Diwali 2022 पर माता लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर या मूर्त न लाएं, होगा अपशगुन

Diwali 2022 का त्योहार इस साल 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा. दिवाली के साथ ही इस दिन नरक चतुर्दशी (Narak Chaturdashi) भी है.

Diwali 2022 News : हिंदू पंचांग के मुताबिक, हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को दिवाली मनाई जाती है. माना जाता है कि इस दिन भगवान राम लंका पर विजय प्राप्ति के बाद अयोध्या आए थे, जिसकी खुशी में सभी नगरवासियों ने अपने प्रभु राम के स्वागत में दीप जलाए थे. एक और मान्यता ये भी है कि इस दिन मां लक्ष्मी प्रकट हुई थी. इसी कारण दिवाली पर माता लक्ष्मी की खास पूजा की जाती है.

Also Read: Diwali 2022: दिल्ली समेत देश में कहां-कहां लगाया गया है पटाखों पर बैन, किस राज्य में मिली छूट

दिवाली पर माता लक्ष्मी के साथ ही भगवान गणेश, कुबेर और माता सरस्वती की पूजा की जाती है. दिवाली पर बहुत से लोग अपने घरों में माता लक्ष्मी की नई फोटो या मूर्ति लेकर आते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं आपको घर में माता लक्ष्मी की कैसी मूर्ति या फोटो लानी चाहिए? माता लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है लेकिन अगर आप माता लक्ष्मी की सही फोटो या मूर्ति घर पर नहीं रखते तो इससे आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है. दिवाली के मौके पर आइए जानते हैं कि मां लक्ष्मी की किस तरह की मूर्ति घर में रखनी चाहिए.

माता लक्ष्मी की मूर्ति खरीदते समय इन बातों का रखें ख्याल

वास्तु के मुताबिक, घर पर माता लक्ष्मी की फोटो हमेशा आशीर्वाद मुद्रा में लगानी चाहिए. इस तरह की फोटो लगाने से घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है. आप माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की एक साथ वाली फोटो भी घर में लगा सकते हैं. इससे पूरे परिवार पर माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है. इसके अलावा आप घर में माता की ऐसी फोटो भी लगा सकते हैं जिसमें उनके हाथों से धनवर्षा हो रही हो. इससे आर्थिक तंगी से छुटकारा मिलता है.

माता लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर या मूर्त न लाएं

  • घर में माता लक्ष्मी की ऐसी फोटो नहीं लगानी चाहिए जिसमें वह रौद्र रूप में दिखाई दे रही हों या अशुरों का संहार कर रही हों. घर में माता लक्ष्मी की इस तरह की फोटो लगाना काफी अशुभ माना जाता है.
  • दिवाली पूजा में माता लक्ष्मी की खड़ी अवस्था में प्रतिमा ना रखें. माता लक्ष्मी के इस स्वरूप की पूजा करने का कोई फल नहीं मिलता. हमेशा घर पर माता लक्ष्मी की बैठी हुई प्रतिमा को रखनी चाहिए.
  • माता लक्ष्मी का वाहन उल्लू है और उल्लू भी चंचल स्वभाव का होता है इसलिए देवी लक्ष्मी की मूर्ति कभी भी उल्लू पर बैठी हुई अवस्था में नहीं रखना चाहिए.
  • माता लक्ष्मी की मूर्ति को कभी भी दीवार से सटाकर नहीं रखना चाहिए. वास्तु में इसे दोष की तरह से देखते हैं. मूर्ति और दीवार के बीच दूरी बनकर रखनी चाहिए.
  • वास्तु के मुताबिक, देवी लक्ष्मी की मूर्ति को हमेशा उत्तर दिशा में रखना चाहिए तभी शुभ फल की प्राप्ति होती है.
  • मंदिर में कभी भी माता लक्ष्मी की एक से ज्यादा मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए. शास्त्रों में इस वर्जित माना जाता है.

Related Articles

Back to top button