कब मनाएंगे दशहरा 4 या 5 तारीख को, जाने शुभ मुहूर्त

इस साल शारदीय नवरात्रि की शुरुआत  आज से हो गई है। नौ दिनों के शारदीय नवरात्रि के बाद दशमी तिथि को दशहरा का पर्व मनाया जाता है। हिंदू धर्म में दशहरा यानी विजयादशमी के पर्व का विशेष महत्व होता है। पूरे भारत में इस पर्व को बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान श्री राम ने लंकापति रावण का वध किया था और माता सीता को उसके चंगुल से आजाद किया था। तभी से हर साल दशहरा यानी विजयादशमी के दिन लोग रावण के पुतले का दहन करके बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व मनाते हैं। इस बार दशहरा की सही तिथि को लेकर लोगों में कन्फ्यूजन बना हुआ है। ऐसे में चलिए आज हम आपको दशहरा पर्व की सही तारीख और इस दिन की जाने वाली पूजा के सभी शुभ मुहूर्त के बारे में बताते हैं…

दशहरा 2022 कब है?
हर साल अश्विन माह में शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा का पर्व मनाया जाता है। पंचांग के अनुसार, इस साल दशमी तिथि 4 अक्टूबर 2022 को दोपहर 2 बजकर 21 मिनट से शुरू हो रही है। ये तिथि 05 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे तक रहेगी। ऐसे में उदयातिथि के अनुसार विजयदशमी का पर्व 05 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

दशहरा शुभ मुहूर्त दशहरा
    दशमी तिथि की शुरुआत- 04 अक्टूबर 2022, दोपहर 2 बजकर 20 मिनट से
    दशमी तिथि समाप्ति- 5 अक्टूबर 2022, दोपहर 12 बजे
    श्रवण नक्षत्र प्रारंभ- 4 अक्टूबर 2022, रात 10 बजकर 51 मिनट से
    श्रवण नक्षत्र समाप्ति- 5 अक्टूबर 2022, रात 09 बजकर15 मिनट तक
    विजय मुहूर्त- 5 अक्टूबर 2022, दोपहर 02 बजकर 13 मिनट से 02 बजकर 54 मिनट तक

दशहरा की पूजा विधि और महत्व
दशहरे के दिन सुबह जल्दी स्नान करके साफ कपड़े पहनें। इसके बाद प्रभु श्री राम, माता सीता और हनुमान जी की पूजा करें। इस दिन गाय के गोबर से 10 गोले बनाए जाते हैं और इन गोलों के ऊपर जौ के बीज लगाए जाते हैं।

फिर भगवान को धूप और दीप दिखाकर पूजा करें और इन गोलों को जला दें। मान्यता है कि रावण के 10 सिर की तरह ये गोले अहंकार, लोभ, लालच का प्रतीक होते हैं। अपने अंदर से इन बुराइयों को खत्म करने की भावना के साथ ये गोले जलाए जाते हैं। 

Related Articles

Back to top button