Bhuvneshwar Kumar Retire News : गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने संन्यास लेने का लिया निर्णय, BCCI ने बर्बाद किया करियर!

Bhuvneshwar Kumar Retire News : टीम इंडिया के धाकड़ तेज गेदबाज भुवनेश्वर कुमार ने सन्यास लेने का मन बना लिया है। हालांकि ये कयास लगाए जा रहे हैं, भुवनेश्वर कुमार ने अधिकारिक तौर पर इस संबंध में कहीं भी नहीं कहा है।

Latest Bhuvneshwar Kumar Retire News : उज्जवल प्रदेश, नई दिल्ली. टीम इंडिया को आगामी दिनों में दो बड़े टूर्नामेंट ​एशिया कप और विश्वकप खेलना है, जिसकी तैयारी जोरों पर चल रही है। एशिया कप के लिए तो एसीसी की ओर से कल से शेड्यूल जारी कर दिया गया। लेकिन इससे पहले टीम इंडिया के लिए एक बड़ी और चिंताजनक खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि टीम इंडिया के धाकड़ तेज गेदबाज भुवनेश्वर कुमार ने सन्यास लेने का मन बना लिया है। हालांकि ये कयास लगाए जा रहे हैं, भुवनेश्वर कुमार ने अधिकारिक तौर पर इस संबंध में कहीं भी नहीं कहा है।

दरअसल भुवनेश्वर कुमार को आखिरी बार 22 नवंबर 2022 को न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में खेलने का मौका मिला था। इसके बाद से भुवी को भारतीय टीम में मौका नहीं मिला है। देखा जाए तो पिछले करीब 9 महीने से भुवी पर चयनकर्ताओं की नजर नहीं पड़ी है और बाहर ही बैठे हुए हैं। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि विश्वकप से पहले भुवनेश्वर कुमार सन्यास का ऐलान कर सकते हैं।

ये खिलाड़ी है वजह

अगर पिछले कुछ मैचों में भारतीय टीम के खिलाड़ियों पर गौर करें तो भुवनेश्वर कुमार की जगह अर्शदीप सिंह को मौका दिया जा रहा है। जबकि वो लगातार महंगे साबित हो रहे हैं। इसका एक कारण ये भी है कि जसप्रीत बुमराह लंबे समय से खेल नहीं रहे हैं और आगामी दिनों में विश्वकप और एशिया कप जैसी बड़ी प्रतियोगिता में टीम इंडिया को हिस्सा लेना है। तो जाहिर सी बात है कि टीम इंडिया नए तेज गेदबाज तैयार करना चाहती है। ऐसे में चयनकर्ता ने अब भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की जगह युवा गेंदबाज अर्शदीप सिंह को मौका देना शुरू कर दिया है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि काफी समय से भुवनेश्वर कुमार को सिर्फ टी20 मैचों के लिए ही चुना जा रहा था।

बीसीसीआई ने खत्म किया इस दिग्गज क्रिकेटर का करियर

दरअसल हम बात कर रहे हैं टीम इंडिया (Team India) के दिग्गज अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की, जो काफी लंबे वक्त से टेस्ट फॉर्मेट में नजर नहीं आए हैं. पहले उन्हें क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप से बाहर कर दिया गया. इसके बाद वनडे और फिर टी20 प्रारूप से भी उन्हें टीम इंडिया से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, या यूं कहे कि उनका करियर ही बर्बाद कर दिया गया है.

जिस तरह से उनके साथ अभी तक बर्ताव किया गया है उसे देखकर तो यही साबित होता है कि अब भूवी के पास संन्यास लेने के अलावा और कोई विकल्प ही नहीं रह गया है. उन्होंने भारत की ओर से अपना अंतिम वनडे मैच 21 जनवरी 2022 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था. जबकि आखिरी टी20 मैच 22 नवंबर 2022 को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था. वहीं टेस्ट 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में खेला था. इस दौरान उन्हें शानदार प्रदर्शन की वजह से ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब भी मिला था. इसके बावजूद उन्हें इस फॉर्मेट में मौका ही नहीं दिया गया.

संन्यास लेने की आई नौबत

भुवनेश्वर कुमार को साल 2018 के बाद से ही टेस्ट टीम में खेलने का मौका नहीं मिला है. एक दौर में भुवनेश्वर कुमार टेस्ट फॉर्मेट में टीम इंडिया (Team India) की सबसे बड़ी ताकत माने जाते थे. उन्होंने खुद को साबित भी किया था. वो गेंद को दोनों तरफ स्विंग कराकर विकेट्स हासिल करने में माहिर थे.

कई बार जब ज्यादा जरूरत पड़ी तो उन्होंने बल्ले से भी बेहतरीन प्रदर्शन कर भारतीय टीम को मुश्किल हालात से बाहर निकालने में मदद की. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में उन्होंने 63 रन बनाए थे और 4 बड़े विकेट भी लिए थे. लेकिन बीसीसीआई ने उनका करियर बर्बाद कर दिया. ऐसे में नौबत ये आ गई है कि उन्हें संन्यास लेना पड़ सकता है.

लेकिन टी20 वर्ल्ड कप 2022 में उनके साधरण प्रदर्शन को देखते हुए चयनकर्ताओं ने भुवी को मौके देना पूरी तरह से बंद कर दिया है। उनकी जगह चयनकर्ताओं ने अब अर्शदीप सिंह को टी20 में मौका देना शुरू कर दिया है। ऐसे में कहा जा सकता है कि अर्शदीप सिंह की वजह से चयनकर्ताओं ने भुवनेश्वर कुमार को मौके देना बंद कर दिया है।

नहीं मिल रहा मौका

आपको बता दें कि भुनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) पहले टीम इंडिया के तीनों फॉर्मेट का हिस्सा हुआ करते थे। लेकिन पहले तो फॉर्म में गिरावट के कारण उन्हें टेस्ट के लिए नजरअंदाज कर दिया गया। उसके बाद वनडे और अब टी20 से भी उन्हें पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया है।

गौरतलब है कि भुवी ने टीम इंडिया के लिए अपना आखिरी वनडे मैच 21 जनवरी 2022 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था। इसके अलावा भुवि ने अपना आखिरी टी20 मैच 22 नवंबर 2022 को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। भुवनेश्वर कुमार ने साल 2018 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच खेला था।

ऐसा करने वाले दुनिया के एकमात्र गेंदबाज

भुवनेश्वर (Bhuvneshwar Kumar) दुनिया के एकमात्र ऐसे गेंदबाज हैं, जिनके नाम T20I क्रिकेट में एक भी नो-बॉल के बिना 1000 से अधिक गेंदें फेंकने का रिकॉर्ड है। भुवी ने 1791 गेंदों में एक भी नो बॉल नहीं की है, उनके नाम T20I क्रिकेट में सबसे ज्यादा मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड भी है। इसके साथ ही भुवी के नाम आईपीएल में लगातार दो बार पर्पल कैप जीतने का रिकॉर्ड भी दर्ज है। उन्होंने 2016 और 2017 में लगातार दो बार पर्पल कैप जीती है। इसके अलावा उनके अंतरराष्ट्रीय रिकॉर्ड पर नजर डालें तो भुवी ने भारत के लिए अब तक 21 टेस्ट, 121 वनडे और 87 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने टेस्ट में 63, वनडे में 141 और टी20 में 90 विकेट लिए हैं।

Related Articles

Back to top button