सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ डेविड वॉर्नर ने बल्ले ने उगली आग

नई दिल्ली
 दिल्ली कैपिटल्स ने गुरुवार को सनराइजर्स हैदराबाद (एसआरएच) के खिलाफ 21 रनों से शानदार जीत दर्ज की और इस जीत में सबसे बड़ा हाथ रहा डेविड वॉर्नर का। वॉर्नर ने 58 गेंदों पर नॉटआउट 92 रनों की पारी खेली और दिल्ली कैपिटल्स का स्कोर 200 के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। मैन ऑफ द मैच वॉर्नर की यह पारी कई मायनों में बहुत खास थी। पिछले सीजन तक वॉर्नर सनराइजर्स हैदराबाद फ्रेंचाइजी टीम का हिस्सा थे। इतना ही नहीं वॉर्नर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद आईपीएल चैंपियन भी बन चुका है। हालांकि पिछले सीजन में टीम मैनेजमेंट और वॉर्नर के बीच सब ठीक नहीं रहा और पहले उन्हें कप्तानी से हटाया गया था और फिर टीम से भी बाहर कर दिया गया था। वॉर्नर से जब इस पारी के बाद पूछा गया कि एसआरएच के खिलाफ क्या वह अलग मोटिवेशन के साथ खेलने उतरे थे, तो उनके जवाब ने सबका दिल जीत लिया।
 
वॉर्नर ने मैच के बाद कहा, 'यह काफी अच्छा विकेट था, मैंने इस मैदान पर कुछ अच्छी पारियां खेली हैं। मुझे पता था कि अगर मैं अपने स्ट्रोक्स खेलूंगा, तो मैं अच्छी पारी खेल सकता हूं। मुंबई में इस गर्मी के साथ खेलना चुनौतीपूर्ण है, अंत तक मैं थोड़ा थक गया था, अब मेरी उम्र हो रही है। रोवमैन पॉवेल का दूसरे छोर पर होना शानदार था। मैं इस बात से खुश हूं कि वह दूसरे छोर पर मौजूद थे।'

 एसआरएच के खिलाफ खेलने को लेकर वॉर्नर ने कहा, 'मैंने इस मैच के लिए एक्स्ट्रा मोटिवेशन की जरूरत नहीं थी। हम देख चुके हैं कि पहले क्या कुछ हो चुका है।' वॉर्नर के अलावा पॉवेल ने 35 गेंद पर 67 रनों की पारी खेली। दिल्ली कैपिटल्स ने 20 ओवर में तीन विकेट पर 207 रन बनाए, जवाब में एसआरएच की टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 186 रन ही बना पाई।

 

Related Articles

Back to top button