श्रेयस अय्यर की कमी बताते हुए पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदन लाल ने कहा- आस्ट्रेलिया में उन्हें बख्शा नहीं जाएगा

नई दिल्ली
मध्यक्रम के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर पिछले साल अपने कंधे की इंजरी से रिकवर करने के बाद क्रिकेट के तीनों फार्मेट में टीम इंडिया के लिए रेगुलर खेल रहे हैं। श्रेयस अय्यर लगातार रन भी बना रहे हैं, लेकिन शार्ट-पिच गेंदबाजी उनकी कमजोरी लगातार बनी हुई है। उनकी इस कमी का फायदा आइपीएल में उमरान मलिक ने तो फिर वहीं साउथ अफ्रीका के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई टी20 सीरीज के दौरान कगिसो रबाडा और एनरिच नार्त्जे ने उठाया था। श्रेयस अय्यर के अच्छे प्रदर्शन की वजह से टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए उन्हें टीम इंडिया में जगह मिलने की पूरी संभावना है, लेकिन शार्ट-पिच गेंदबाजों के खिलाफ बल्लेबाजी करना उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती होने वाली है। श्रेयस अय्यर की परीक्षा इंग्लैंड दौरे पर ही होने वाली है जहां एक टेस्ट व तीन-तीन मैचों की वनडे व टी20 सीरीज खेली जानी है। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज अपनी शार्ट-पिच गेंदों से श्रेयस अय्यर की कमजोरी को पूरी तरह से परखने की कोशिश करेंगे।

श्रेयस अय्यर के लिए शार्ट-पिच गेंदें खेलना मुश्किल है इसका पता आस्ट्रेलिया में ही चला जब वहां वो कंधे की ऊंचाई वाली गेंदों के सामने पूरी तरह से असहज दिखे थे। पांच मैचों की उस सीरीज में श्रेयस अय्यर ने 0,12*, 2, 38, 19 रन की पारी खेली थी। अब श्रेयस अय्यर की इस कमजोरी के बारे में बात करते हुए टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर मदन लाल ने कहा कि आइपीएल के बाद तो उनकी कमजोरी और व्यापक रूप से सामने आ गई है। यही नहीं वो सपाट और तेज उछाल वाली आस्ट्रेलियाई पिचों पर पूरी तरह से एक्सपोज हो जाएंगे। मदन लाल ने कहा कि इंटरनेशनल क्रिकेट में अगर आपकी कोई कमजोरी है तो विपक्षी टीम निश्चित रूप से आपकी उस कमजोरी के पीछे पड़ेगा। इसे भूल जाइए कि वो ऐसा नहीं करेंगे और ऐसे में आपको अपनी उस कमजोरी से खुद निपटना होगा, रास्ता तलाश करनी होगी। अगर आप 100 रन बना लेंगे तो आस्ट्रेलिया वाले तालियां बजाएंगे, लेकिन वो आपको छोड़ेंगे नहीं। वो आपको शार्ट गेंद फेंकते रहेंगे जब तक कि आप आउट नहीं हो जाते।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button