इंग्लैंड के पास वेस्टइंडीज के दौरे पर टेस्ट सीरीज में खुद को साबित करने का मौका: जो रूट

नई दिल्ली

इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट का मानना है कि उनकी टीम को मेजबान वेस्टइंडीज के खिलाफ आठ मार्च से शुरू हो रही आगामी तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में साबित करने का मौका मिलेगा। विशेष रूप से इंग्लैंड को इस साल की शुरुआत में एशेज में 0-4 से करारी हार का सामना करना पड़ा था। खराब एशेज सीरीज अभियान ने इंग्लैंड की टीम में कई बड़े बदलाव भी किए, जिनमें अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को बाहर करना शामिल है।

इंग्लैंड की टीम के लिए वेस्टइंडीज का दौरा आसान नहीं होने वाला है। टीम के पास प्रमुख गेंदबाज नहीं हैं। इसके अलावा टीम हाल ही में एशेज सीरीज हारकर आई है और पिछली बार जब इंग्लिश टीम ने कैरेबियाई सरजमीं पर टेस्ट सीरीज खेली थी तो 1-2 से हार मिली थी। हालांकि, जो रूट इस बात से वाकिफ हैं, क्योंकि वह इस सीरीज को अपने टीम की असली क्षमता दिखाने के अवसर के रूप में देखते हैं। उन्होंने वेस्टइंडीज की सीरीज को बड़ा चैलेंज भी माना है ।  

जो रूट ने क्रिकइंफो से बात करते हुए कहा, "मुझे लगता है कि यह हम सभी के लिए खुद को साबित करने का अवसर है। हम जानते हैं कि ऐतिहासिक रूप से इंग्लैंड से आना और यहां खेलना आसान नहीं है, 50 साल में हम सिर्फ एक बार जीते हैं,  लेकिन यह टीम के लिए एक शानदार अवसर है। यहां जीतना एक बड़ी उपलब्धि होगी, इसलिए यह ऐसी चीज है जिसका हम बहुत बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। यह हमारे लिए एक बड़ी चुनौती है, लेकिन कुछ ऐसा जिसे लेकर हम बहुत उत्साहित हैं।"

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने आगे कहा कि उनकी टीम सीरीज में सकारात्मक क्रिकेट खेलेगी, क्योंकि मैच जीतना उनकी प्राथमिकता है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इंग्लैंड को वर्तमान में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका में सबसे नीचे है। तमाम मैच खेलने के बावजूद इंग्लैंड के खाते में 10 अंक हैं और टीम का जीत प्रतिशत 9.25 है। इसलिए, इंग्लैंड की टीम को डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए क्वालीफाई करने के अपने विदेशी टेस्ट मैचों को जीतकर पर्याप्त अंक हासिल करने होंगे। 

Related Articles

Back to top button