7 खिलाड़ी हुए फाइनल टेस्ट से बाहर, इंग्लैंड में होगी रोहित शर्मा की अग्नि परीक्षा

 नई दिल्ली
 
1 जुलाई से भारत को इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच खेलना है। यह टेस्ट 2021 में अधूरी रह गई सीरीज का हिस्सा है। टीम इंडिया के कैंप में हुए कोरोना अटैक के बाद आखिरी मैच को आगे के लिए स्थगित कर दिया गया था। रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय टीम अधूरी रह गई इस सीरीज को पूरा करने के लिए यूके पहुंच चुकी है। पिछले साल की तुलना में टीम इंडिया पूरी तरह से बदली हुई नजर आ रही है। फाइनल मैच के लिए ना वो कप्तान रह गया है और ना ही वो कोचिंग स्टाफ, साथ ही पिछले बार जो भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी उनमें से 7 खिलाड़ी इस बार टीम का हिस्सा नहीं हैं। ऐसे में कप्तान रोहित शर्मा के लिए यह चुनौती आसान नहीं रहने वाली है।

कोहली-शास्त्री के युग का हुआ अंत
साल 2021 में जब टीम इंडिया इंग्लैंड दौरे पर गई थी तो उस समय कप्तान विराट कोहली थे तो हेड कोच की जिम्मेदारी रवि शास्त्री संभाल रहे थे। पहले चार मैचों में टीम के उप-कप्तान अजिक्य रहाणे थे। मगर कोहली अब कप्तानी के पद से इस्तीफा दे चुके हैं, वहीं रवि शास्त्री का कार्यकाल पूरा हो चुका है। बात रहाणे की करी जाए तो खराब फॉर्म के चलते यह अनुभवी खिलाड़ी भारतीय टीम से अपनी जगह खो बैठा है।इस बार कप्तानी की जिम्मेदारी रोहित शर्मा के कंधों पर हैं, वहीं हेड कोच राहुल द्रविड़ होंगे। केएल राहुल के टेस्ट सीरीज से बाहर होने के बाद उप-कप्तानी की जिम्मेदारी ऋषभ पंत को मिल सकती है।

7 खिलाड़ी फाइनल टेस्ट की स्क्वॉड से बाहर
पिछले साल के इंग्लैंड दौरे की स्क्वाड के 7 खिलाड़ी इस बार फाइनल टेस्ट के लिए भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं। इनमें अजिंक्य रहाणे समेत ईशांत शर्मा, पृथ्वी शॉ, सूर्यकुमार यादव, अभिमन्यू ईश्वरन, मयंक अग्रवाल और ऋद्धिमान साहा का नाम शामिल नहीं है। इनकी जगह श्रेयस अय्यर, केएस भरत और शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। इस बार केएल राहुल के रूप में एक और बड़ा नाम टीम से गायब है। राहुल को फाइनल टेस्ट के लिए टीम में चुना तो गया था मगर वह चोटिल होने की वजह से बाहर हो गए हैं। उनकी कमी आखिरी मैच में भारत को काफी खलने वाली है।

रोहित की कप्तानी में पहला विदेशी दौरा
साउथ अफ्रीका दौरे पर टेस्ट सीरीज 1-2 से हारने के बाद विराट कोहली ने टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ दी थी। इसके बाद रोहित शर्मा को तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया का कप्तान नियुक्त किया गया। रोहित की अगुवाई में टीम इंडिया ने घरेलू सरजमीं पर ही अभी तक क्रिकेट खेला है। इस दौरान टीम को एकमात्र टेस्ट सीरीज श्रीलंका के खिलाफ खेलने को मिली जिसमें टीम इंडिया ने मेहमानों का सूपड़ा साफ किया। अब बारी विदेशी धरती पर धमाल मचाने की है, यह दौरा रोहित के लिए किसी अग्नि परीक्षा से कम नहीं होगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button