IND vs AFG: इशारों ही इशारों में दिल का ‘दर्द’ कह गए धोनी

नई दिल्ली 
दुबई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पर मंगलवार को खेला गया एशिया कप सुपर 4 में भारत और अफगानिस्तान का मुकाबला टाई पर समाप्त हुआ। भारत के सामने 253 रनों का लक्ष्य था लेकिन पूरी टीम 49.5 ओवरों में 252 रन बनाकर आउट हो गई। मैच के बाद टीम की कमान संभाल रहे महेंद्र सिंह धोनी ने अफगान टीम की तारीफ की। धोनी ने हालांकि बिना नाम लिए खराब अंपायरिंग की ओर भी इशारा किया।  
 

अपने 200वें वनडे में कप्तानी करने वाले धोनी ने कहा, 'अफगानिस्तान के क्रिकेट में काफी सुधार हुआ है। एशिया कप की शुरुआत से ही वे जिस तरह का क्रिकेट खेले वह काबिले-तारीफ है। हमने उनके क्रिकेट का खूब आनंद उठाया।' उन्होंने कहा कि अफगानिस्तानी टीम ने काफी अच्छा क्रिकेट खेला। भारतीय कप्तान ने अफगान टीम की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने बहुत अच्छी तरह बल्लेबाजी की। विकेट बाद में धीमा हो गया था लेकिन अफगान टीम ने बढ़िया गेंदबाजी की और फील्डिंग भी बहुत अच्छी की। 

 
धोनी से जब पूछा गया कि मैच में कहां चूक हो गई तो उन्होंने कहा, 'मैं ऐसा नहीं कहूंगा कि लक्ष्य का पीछा करने में हमसे कोई चूक हुई। शुरुआत की बात करें तो हम अपनी पूरी मजबूत टीम के साथ नहीं उतरे। इस विकेट पर हमारे पास पर्याप्त स्पिनर्स नहीं थे। तेज गेंदबाजों को स्विंग नहीं मिला और हमने सही लेंथ पर गेंदबाजी नहीं की। हमने शुरुआत में काफी रन दे दिए।' भारतीय बल्लेबाजी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, 'हमें अच्छी शुरुआत मिली लेकिन बाद में विकेट धीमा हो गया हमें उसी हिसाब से बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। हमारा शॉट सिलेक्शन भी अच्छा नहीं था, इस पर हमें काम करने की जरूरत है। कुछ रन-आउट हो गए।' 

 
धोनी ने अंपायर के कुछ फैसलों पर भी इशारों ही इशारों में नाराजगी जताई। उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा, 'हमें कुछ चीजों पर काम करने की जरूरत है लेकिन कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिन पर हम बात नहीं कर सकते क्योंकि मैं जुर्माना नहीं भरना चाहता।' 

 
दरअसल इस मैच में भारत को अंपायरों के कुछ गलत फैसलों का शिकार भी होना पड़ा। महेंद्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक को अंपायर ने LBW दिया लेकिन रीप्ले में साफ था कि दोनों मौकों पर गेंद लेग स्टंप से बाहर जा रही थी। भारत के पास चूंकि रिव्यू नहीं बचा था इसलिए वह मैदानी अंपायर के इस फैसले को चुनौती नहीं दे पाया। इसके अलावा आखिरी ओवर में रविंद्र जडेजा के बल्ले से निकला शॉट छक्का लग रहा था लेकिन तीसरे अंपायर ने उसे चार रन ही घोषित किया। 

भारतीय कप्तान ने कहा कि इस विकेट पर 250 का स्कोर काफी अच्छा था। उन्होंने कहा कि हम यह मैच हार सकते थे लेकिन कुछ चीजें हमारे पक्ष में नहीं गईं तो मैं इस नतीजे (टाई) से खुश हूं। 
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button