मानवादित्य राठौड़ ने ISSF सीनियर विश्व कप में ब्रॉन्ज मेडल जीता

नई दिल्ली

 BJP सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर (Rajyavardhan Singh Rathore) के बेटे मानवादित्य (Manavaditya) ने अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए भविष्य के चैंपियन बनने के संकेत दिए हैं। हाल ही में पेरू में हुए आईएसएसएफ सीनियर विश्व कप (ISSF Senior World Cup) में उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल जीता है। भारतीय टीम को नेतृत्व करते हुए उन्होंने शॉटगन प्रतियोगिता में ब्राजील को शिकस्त दी और पदक अपने नाम किया।

ब्राजील के साथ भारत का कांस्य पदक मैच 5-5 से बराबरी पर था, जिसे बाद में भारतीय टीम ने शूट-ऑफ में जीत लिया। इस मैच में मानवादित्य राठौर (70/75 रन बनाए), शपथ भारद्वाज (जिन्होंने 64/75 रन बनाए) और कियान चेनाई (जिन्होंने 71/75 रन बनाए)। इतना ही नहीं इस प्रतियोगिता के चलते मानवादित्य राठौर को ओपन श्रेणी में 36 की विश्व रैंकिंग भी मिली है। जिससे वह साल 2022 के लिए विश्व रैंकिंग की ISSF सूची में सर्वोच्च रैंक हासिल करने वाले भारतीय बन गए हैं।

बता दें कि मानवादित्य सिंह राठौर ने 14 साल की उम्र में जूनियर नेशनल ट्रैप का खिताब जीता था और 2019 में खेलो इंडिया यूथ गेम्स में अंडर -21 ट्रैप इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था। इससे पहले उनके पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने साल 2004 के ओलंपिक में डबल ट्रेप इवेंट में सिल्वर मेडल जीतकर पूरे देश का नाम रोशन किया था। इसके बाद वह साल 2014 में उन्होंने जयपुर ग्रामीण संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीता और बाद में उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खेल मंत्रालय संभालने का जिम्मा दिया था।

Related Articles

Back to top button