रविचंद्रन अश्विन का ‘रिटायर्ड आउट’ होने के पीछे किसका आइडिया था बताया संजू सैमसन ने

मुंबई
राजस्थान रॉयल्स और लखनऊ सुपर जायंट्स के बीच आईपीएल 2022 के 20वें मुकाबले में एक अजीबो-गरीब नजारा देखने को मिला जब आर अश्विन ने बल्लेबाजी के दौरान अचानक फील्ड छोड़ दी। इस दौरान अंपायर ने भी उन्हें रोकने की कोशिश की मगर अश्विन सीधा डग आउट में जाकर रुके। दरअसल अश्विन ने टीम हित में फैसला लेते हुए खुद को 'रिटायर्ड आउट' घोषित किया ताकी आगे आने वाले बल्लेबाज तेज से रन बना सके। अश्विन का यह फैसला अब चर्चा का केंद्र बना हुआ है। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने भी इस पर अपनी राय दी है।

सैमसन ने कहा कि स्लॉग ओवरों में अश्विन के 'रिटायर्ड आउट' का फैसला टीम मैनेजमेंट का था, जोकि मैच की स्थिति को ध्यान में रखते हुए लिया गया था। राजस्थान आईपीएल इतिहास की पहली ऐसी टीम बन गई है, जिसके खिलाड़ी ने रिटायर्ड आउट होने का फैसला किया। सैमसन ने मैच के बाद कहा, 'यह राजस्थान रॉयल्स (अश्विन के रिटायर-आउट) होने के बारे में है। हम अलग-अलग चीजों की कोशिश करते रहते हैं। सीजन से पहले इसके बारे में बात करते रहे हैं। हमने सोचा था कि अगर ऐसी कुछ स्थिति होती है, तो हम इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह टीम का फैसला था।'

यह मामला पारी के 19वें ओवर का है। अश्विन पिछली कुछ गेंदों से स्ट्राइक तो रोटेट कर रहे थे मगर वह गेंद को बाउंड्री के पार नहीं पहुंचा पा रहे थे। इस वजह से अश्विन ने खुद को रिटायर आउट करने का फैसला लिया और उनकी जगह रियान पराग बल्लेबाजी करने मैदान पर उतरे। अश्विन आईपीएल के इतिहास में रिटायर आउट होने वाले पहले और टी20 में कुल चौथे खिलाड़ी बन गए हैं।   अश्विन के इस फैसले की तारीफ हर कोई कर रहा है। 67 रन पर टॉप 4 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए थे। इस मुश्किल स्थिति में बल्लेबाजी करने आए अश्विन ने हेटमायर का साथ दिया और दोनों के बीच 5वें विकेट के लिए 68 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी हुई। अश्विन के रिटायर आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए रियान पराग ने 4 गेंदों पर 8 रन बनाए और उन्होंने हेटमायर के साथ 28 रनों की साझेदारी की।

Related Articles

Back to top button