कपिल देव रविंद्र जडेजा को इतना ज्यादा क्यों पसंद करते हैं , महान कप्तान ने बताया कारण

नई दिल्ली
महान क्रिकेटर कपिल देव ने कहा कि वह रविंद्र जडेजा को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि 33 वर्षीय ऑलराउंडर किसी भी परिस्थिति में दबाव में नहीं आता है। 1983 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान कपिल देव ने कहा कि बाएं हाथ के बल्लेबाज की विशेषता यह है कि वह क्रिकेट के हर पहलू का आनंद लेते हैं और यही उनकी सफलता का कारण है। रविवार को कपिल देव ने फरीदाबाद में एक कार्यक्रम में कहा, "मुझे नए क्रिकेटरों के बीच रविंद्र जडेजा का खेल पसंद है, क्योंकि वह बिना दबाव के खेलते हैं। वह क्रिकेट का लुत्फ उठाते हैं। इसलिए वह गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी में भी माहिर हैं। वह फील्डिंग में भी बहुत अच्छा काम करते हैं। मेरा मानना है कि दबाव में कुछ भी ठीक से नहीं किया जा सकता है। यदि आप क्रिकेट के क्षेत्र में दबाव बनाते हैं तो आपका प्रदर्शन खराब रहेगा।"

पिछले हफ्ते रविंद्र जडेजा नवीनतम ICC टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन ऑलराउंडर बने। जडेजा ने मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन आईएस बिंद्रा स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच में प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब हासिल किया था। उन्होंने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया मोहाली में किया, जहां उन्होंने बल्ले से नाबाद 175 रन बनाए और मोहाली में खेले गए इस मैच में 9 विकेट भी उन्होंने अपने नाम किए, जिसमें पहली पारी में 5 और दूसरी पारी में 4 विकेट शामिल थे।  यह पूछे जाने पर कि कौन सा क्रिकेट स्टेडियम उनके दिल के बहुत करीब है तो इसके जवाब में हरियाणा हरिकेन ने कहा कि उन्हें चेन्नई का एम ए चिदंबरम स्टेडियम सबसे ज्यादा पसंद है, क्योंकि वह वहां कभी असफल नहीं हुए। चेपॉक में खेले गए 11 टेस्ट में उन्होंने दो शानदार शतकों के साथ 707 रन बनाए और 40 विकेट झटके। 131 टेस्ट खेलने वाले कपिल ने कहा, "मैं गर्व से कह सकता हूं कि चेपॉक उन मैदानों में से एक है जहां मैं कभी असफल नहीं हुआ।"  

 

Related Articles

Back to top button