एटीएम पर धोखाधड़ी से बचने के लिए ओटीपी से निकालें पैसा

नई दिल्ली
बीते कुछ वर्षों से एटीएम कार्ड बदलकर धोखाधड़ी के मामलों की संख्या बढ़ गई है। ऐसे मामलों पर अंकुश लगाने के लिए बैंक बिना कार्ड एटीएम से पैसे निकासी के कई विकल्प उपलब्ध करा रहे हैं। इन्हीं विकल्पों में वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) के जरिए एटीएम से पैसों की निकासी भी शामिल है। इसके लिए बैंक खाते में मोबाइल नंबर का पंजीकरण होना जरूरी है। यदि बैंक खाते से मोबाइल पंजीकृत नहीं है तो इस सुविधा का लाभ नहीं मिल सकेगा। इसका कारण यह है कि ओटीपी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही भेजा जाता है। इस सुविधा के जरिए उपभोक्ता एक बार में 10 हजार रुपये या इससे ज्यादा राशि की निकासी कर सकता है।
 

कई बैंक दे रहे हैं सेवाओटीपी आधारित एटीएम से पैसों की निकासी की सुविधा भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) समेत कई बैंक दे रहे हैं। इस सुविधा के तहत उपभोक्ता को निकासी के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी के साथ डेबिट कार्ड या एटीएम कार्ड का पिन भी एंटर करना होता है। यह ओटीपी चार अंकों का होता है। एसबीआई एक जनवरी 2020 से यह सुविधा दे रहा है।

ये है एसबीआई की प्रक्रिया
– सबसे पहले आपको एसबीआई की एटीएम मशीन पर ओटीपी आधारित निकासी का विकल्प चुनना होगा।

– अब आपके मोबाइल नंबर पर चांर अंकों का ओटीपी आएगा।
– यह ओटीपी केवल एक बार लेन-देन के लिए मान्य होगा।

– जब आप निकासी राशि एंटर कर देंगे तो एटीएम मशीन की स्क्रीन पर ओटीपी एंटर करने का विकल्प दिखेगा।
– अब आपको चार अंकों का ओटीपी और डेबिट कार्ड का पिन एंटर करना होगा।

– ओटीपी और डेबिट कार्ड पिन का सत्यापन होते है पैसा मशीन से बाहर निकल आएगा।

Related Articles

Back to top button