अब ट्यूबवेल ऑपरेटर का पर्चा लीक, परीक्षा रद्द

लखनऊ 
उत्तर प्रदेश में प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी और पेपर लीक की घटनाएं रोके नहीं रुक रही हैं। इस बार उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर नलकूप चालक के 3210 पदों के लिए आयोजित कराई जा रही परीक्षा का हिंदी का पेपर लीक हो गया। जिस कारण आखिरी समय पर परीक्षा रद्द करनी पड़ी है। 
3210 पदों के लिए रविवार को प्रदेश के 8 जिलों में सुबह 10 बजे से परीक्षा होनी थी। परीक्षा के लिए 2 लाख से भी ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। लखनऊ में दूर-दराज के जिलों से परीक्षा देने पहुंचे अभ्यर्थियों को जैसे ही परीक्षा रद्द होने की सूचना मिली, उनके होश उड़ गए। अभ्यर्थियों ने स्टेशन के बाहर रोड जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस को उन्हें समझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। 

पेपर लीक मामले की जांच एसटीएफ को सौंप दी गई है। सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ ने मेरठ से 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन पर पेपर लीक करने का आरोप है। परीक्षा की अगली तिथि जल्द ही घोषित की जाएगी। 

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब प्रदेश में किसी परीक्षा को पेपर लीक या गड़बड़ी की वजह से रद्द करना पड़ा हो। इससे पहले राज्य लोक सेवा आयोग जैसी प्रतिष्ठित परीक्षा हो, यूपी पावर कॉर्पोरेशन में कार्यालय सहायक की परीक्षा हो या यूपी पुलिस में कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा, पिछले एक साल में ऐसी तमाम परीक्षाएं पेपर लीक और गड़बड़ियों की वजह से या तो एग्जाम से पहले रद्द करनी पड़ी हैं या एग्जाम हो जाने के बाद इन्हें निरस्त करना पड़ा है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button