रिम्स में कुत्ते और मच्छरों से परेशान लालू यादव का बदला कमरा

रांची             
चारा घोटाले में जेल की सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव रांची इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में भर्ती हैं. पिछले तकरीबन 1 हफ्ते से कुत्ते और मच्छरों से परेशान लालू प्रसाद को आखिरकार बुधवार को थोड़ी राहत मिली है. उनकी अर्जी पर रिम्स प्रशासन ने उन्हें पेइंग वार्ड में भर्ती करा दिया. लालू अब अपना इलाज सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक पेइंग वार्ड में करवाएंगे जिसके लिए उन्हें रोजाना 1000 रुपये कमरे का किराया देना पड़ेगा.

बता दें कि लालू प्रसाद यादव ने 30 अगस्त को रांची की विशेष सीबीआई अदालत में सरेंडर किया, जिसके बाद उन्हें आगे का इलाज करवाने के लिए रांची इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में भर्ती कराया गया था. लालू को रिम्स के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के वार्ड में रखा गया था जहां पर उनका इलाज चल रहा था, मगर इस दौरान लालू रिम्स के कैंपस में कुत्ते और मच्छरों से परेशान थे.

1 हफ्ते से लालू लगातार इस बात की शिकायत कर रहे थे कि उन्हें रात में नींद नहीं आती है, क्योंकि रातभर रिम्स परिसर में कुत्ते भोंकते हैं और मच्छर काटते रहते हैं. इस परेशानी को लेकर लालू ने रिम्स प्रशासन को अर्जी दी थी कि उनका कमरा बदल दिया जाए और उन्हें पेइंग वार्ड में शिफ्ट किया जाए. रिम्स प्रशासन ने लालू की अर्जी बिरसा मुंडा जेल अधीक्षक को भेज दी और वहां से हरी झंडी मिलने के बाद बुधवार शाम तकरीबन 7:00 बजे लालू को पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया.
रिम्स में लालू अपना इलाज डॉ. उमेश प्रसाद की निगरानी में करवा रहे हैं. गौरतलब है कि कुछ महीने पहले चारा घोटाले के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद लालू प्रसाद को रांची के बिरसा मुंडा जेल में रखा गया था जहां पर उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें रिम्स में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था.

उस वक्त भी रिम्स में इलाज के दौरान लालू ने कुत्ते और मच्छरों से परेशानी की बात कही थी. 30 अगस्त को विशेष सीबीआई अदालत में सरेंडर करने से पहले लालू ने 'आज तक' से बातचीत करते हुए इस बात की आशंका जताई थी कि रिम्स में उनका इलाज ठीक तरीके से नहीं हो सकता है क्योंकि वहां पर काफी गंदगी है और उन्हें इन्फेक्शन का खतरा है.

अपने मजाकिया अंदाज में लालू ने सरेंडर से पहले यह भी कहा था कि रिम्स में कुत्ते रातभर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन किया करते हैं. हालांकि इस बार रिम्स प्रशासन ने लालू प्रसाद के आवेदन पर कार्रवाई करते हुए उनका कपड़ा बदल दिया है और अब वह आगे का इलाज पेइंग वार्ड में करवाएंगे जो पूरी तरीके से वातानुकूलित है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button