लखीमपुर खीरी मामले में 4 आरोपी गिरफ्तार, पेड़ से लटका मिला था दलित बहनों का शव

लखीमपुर खीरी

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में बीती रात एक दलित समुदाय की दो बहनों के पेड़ से लटके पाए जाने के बाद जमकर हंगामा हुआ। इस मामले में परिवार ने लड़कियों को जबरन उठाकर ले जाने और हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं अपर एसपी अरुण कुमार सिंह, लखीमपुर खीरी के मुताबिक लखीमपुर कांड में बलात्कार, हत्या और बाल शोषण का मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर में एक नामजद और तीन अज्ञात आरोपियों का जिक्र है। लड़कियों की मां ने मीडिया और पुलिस को बताया है कि आरोपी उनकी बेटियों को जबरन मोटरसाइकिल पर बिठाकर ले गए।

लड़कियों की मां ने आरोप लगाया है कि जब उसने आरोपियों को रोकने की कोशिश की तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। परिवार और गांव वालों ने बाद में लड़कियों की तलाश की और उनके शव एक पेड़ से लटके मिले। महिला ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटियों के साथ रेप किया गया और फिर उनकी हत्या कर दी गई। आरोपियों पर हत्या और बलात्कार से संबंधित आईपीसी की धाराओं और पॉक्सो के तहत आरोप लगाए गए हैं।

शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। लखनऊ रेंज के पुलिस महानिरीक्षक लक्ष्मी सिंह ने कहा कि लड़कियां अपने ही दुपट्टे से लटकी हुई पाई गईं और कोई चोट के निशान नहीं हैं। शवों का पोस्टमार्टम होना बाकी है। बुधवार देर रात गांव वालों और परिवार ने जमकर हंगामा और विरोध प्रदर्शन भी किया। गांव वालों से तीखी नोकझोंक के बाद, पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने में सफल रही।

डॉक्टरों का पैनल करेगा पोस्टमार्टम

दोनों नाबालिग लड़कियों का शव लखीमपुर मुख्यालय के पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गया है जहां डॉक्टरों का पैनल पोस्टमार्टम करेगा. पैनल में महिला डॉक्टर भी शामिल होंगी. पूरे पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी. पुलिस को इस मामले में परिजनों की तरफ से तहरीर का इंतजार है.

मां ने कहा- जबरदस्ती उठा ले गए लड़के

मृतक लड़कियों की मां ने इस घटना को लेकर जो बयान दिया, उसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे. दोनों मृत बहनों की मां ने बताया, 15 साल और 17 साल की अपनी दोनों बेटियों के साथ बुधवार की दोपहर को वह घर के बाहर बैठी हुई थी. कुछ देर बाद बेटियों को बाहर छोड़कर वो कपड़े डालने के लिए घर के अंदर चली गईं और उसी वक्त बाइक सवार तीन युवक वहां पहुंच गए.

महिला ने आगे बताया, 'तीन में से दो अलग-अलग लड़कों ने उनकी बेटियों को घसीटा और एक लड़के ने बाइक स्टार्ट की और दोनों को लेकर मौके से फरार हो गए.' उन्होंने कहा, 'तीनों लड़के रोज आते थे. आज जब वो आए उस वक्त हमारी बिटिया हमारे पास बैठी हुई थी. महिला के मुताबिक, तीनों ही लालपुर के रहने वाले थे.

मृतक लड़कियों की मां.

मृतक दोनों दलित बहनों की मां ने कहा, 'हम जैसे ही अंदर गए, तभी पीली शर्ट और सफेद शर्ट पहने दो लड़के उनकी बेटियों को घसीटने लगे जबकि नीली शर्ट पहने युवक ने गाड़ी स्टार्ट की और फिर तीनों लोग लड़कियों को लेकर फरार हो गए. महिला ने कहा, इस दौरान बेटियों को बचाने के लिए वह दौड़ी और उसके कपड़े भी फट गए.

पीड़ित परिवार की शिकायत पर केस

इस घटना को लेकर एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह मौके पर हैं. पीड़ित परिवार की तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने कहा, 'दोनों बच्चियों के शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा.'

बता दें कि इस मामले के बाद यूपी में राजनीति भी गरमा गई है और समाजवादी पार्टी सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमलावर हो गई है.

 क्या है मामला?

यूपी के लखीमपुर (Lakhimpur) में दो बहनों की लाश, गांव के बाहर एक पेड़ से लटकती हुई मिली। ये मामला लखीमपुर खीरी के निघासन (Nighasan) कोतवाली का है। इस मामले में पीड़िता के मां ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि उनकी आंखों के सामने इनका अपहरण किया गया और दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई। पुलिस ने मृतका की मां की तहरीर पर एक नामजद और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किया है।

Related Articles

Back to top button