उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद सेल्समैन को धमकी देने वाले आरोपी पकड़े गए

उदयपुर
उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद उसी इलाके में सेल्समैन को धमकी देने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है। मालदास स्ट्रीट व भूतमहल के आसपास दुकानों में 300 सीसीटीवी खंगालने के बाद पुलिस बदमाशों तक पहुंच पाई। पुलिस के मुताबिक इन बदमाशों में एक घंटाघर थाने का हिस्ट्रीशीटर है। इन आरोपियों ने बिना वजह ही सेल्समैन को डराकर दहशत फैलाई थी। इन आरोपियों का कन्हैयालाल तेली हत्याकांड या किसी अन्य ग्रुप से कोई कनेक्शन सामने नहीं आया है।

डीएसपी तपेन्द्र मीणा ने बताया कि 28 जून को कन्हैयालाल की हत्या हुई थी, इसके बाद 15 जुलाई को मालदास स्ट्रीट में एक कपड़े की दुकान पर काम करने वाले युवक को बाइक पर आए दो युवकों ने जान से मारने की धमकी दी थी। इसके बाद से ही बाजार में दहशत का माहौल बन गया था। पुलिस ने जांचकर महावतवाड़ी, सिलावटवाडी निवासी शाहनवाज उर्फ चनिया और राहिल शेख उर्फ बोहरा को गिरफ्तार किया है। राहिल घंटाघर थाने का हिस्ट्रीशीटर भी है। ये दोनों धमकी देने के बाद से अपने घर से नहीं निकल रहे थे।

दबंगई दिखाने के लिए सेल्समैन को दी थी धमकी
आरोपियों ने अपनी दबंगई दिखाने के लिए सेल्समैन को धमकाया था। आरोपियों ने रास्ते चलते सेल्समैन से कहा था होशियारी दिखाई तो देख लेंगे। इसके बाद युवक ने दुकान पर आना भी बंद कर दिया था। इस सेल्समैन से एक दिन पहले ही दो अन्य व्यापारियों को भी वॉट्सऐप कॉलिंग के जरिए धमकी दी गई थी। धमकी का मामला सामने आने के बाद एसपी विकास शर्मा ने एक टीम गठित की। इसमें सीआई श्याम रत्नू, हेड कांस्टेबल अर्जुन सिंह, प्रदीप, सत्पाल और जिग्नेशन को शामिल किया गया। टीम ने इन्वेस्टिगेशन पूरा होने के बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button