उत्तर प्रदेश के स्कूलों में होगी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कोडिंग की पढ़ाई

 लखनऊ
 
उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों के बच्चों को आधुनिक शिक्षा और टेकनोलॉजी से जोड़ने की योजना के तहत अब उन्हें स्कूलों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कोडिंग की भी पढ़ाई कराई जाएगी। यूपी के परिषदीय स्कूलों में कोडिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पढ़ाई होगी। जानकारी के मुताबिक प्रदेश के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के छात्रों के साथ-साथ बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में भी कोडिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पढ़ाई कराई जाएगी।

सिर्फ इतना ही नहीं, बच्चों को फाइनेंशियल इंटेलिजेंस (Financial Intelligence) और बिजनेस इंटेलिजेंस ( Business Intelligence) की भी पढ़ाई कराई जाएगी। यूपी के बेसिक शिक्षा विभाग ने इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। इस योजना के पहले चरण में केजीबीवी की छात्राओं को कोडिंग सिखाई जाएगी। बच्चों को प्राइमरी लेवल से कोडिंग के एक-एक पहलू की पढ़ाई कराई जाएगी।

बिजनेस इंटेलिजेंस के जरिए बच्चों को व्यापार की बारीकियों को समझाया जाएगा और सफल व्यापार चलाने के गुण बताए जाएंगे वहीं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए उन्हें एआई से जुड़ी असीम संभावनाओं से रूबरू कराया जाएगा। ग्राम निधि और कंपोजिट फंड से यूपी के साढ़े सात सौ परिषदीय स्कूलों को स्मार्ट स्कूल में बदला जाएगा। इन सभी स्कूलों में स्मार्ट टीवी और यूपीएस लगाया जाएगा। इसके अलावा स्कूलों में 3 डी डिस्कवरी लैब भी बनाया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button