CG News : छत्‍तीसगढ़ में मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी, कई गांवों का टूटा संपर्क, स्कूल-आंगनबाड़ी केंद्रों में अवकाश

CG News : प्रदेश में लगातार बारिश की गतिविधि थोड़ी कम होगी। हालांकि, कुछ क्षेत्रों में भारी से अति भारी वर्षा के भी आसार है।

Latest CG News : उज्जवल प्रदेश, रायपुर . छत्‍तीसगढ़ में पिछले कुछ दिनों से हो रही अच्छी बारिश पर अब थोड़ा विराम लगने वाला है। मौसम विभाग का कहना है कि मानसूनी तंत्र के प्रभाव से प्रदेश में लगातार बारिश की गतिविधि थोड़ी कम होगी। हालांकि, कुछ क्षेत्रों में भारी से अति भारी वर्षा के भी आसार है।

बीजापुर व दंतेवाड़ा जिले में रेड अलर्ट जारी

विभाग ने बीजापुर व दंतेवाड़ा जिले के लिए गुरुवार को रेड अलर्ट भी जारी किया है और चेतावनी दी है कि इन जिलों के कुछ क्षेत्रों में भारी से अति भारी वर्षा की संभावना है। इसके साथ ही सुकमा जिले में कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा हो सकती है। सुकमा जिले के लिए आरेंज अलर्ट की चेतावनी है।

मौसम विज्ञानियों ने बताया कि अगले चार से पांच दिनों तक प्रदेशभर में अच्छी बारिश का दौर जारी रहेगा। साथ ही बस्तर संभाग में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। बस्तर के दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर में लगातार बारिश हो रही है।

रिकॉर्ड तोड़ ​बारिश से स्कूल और आंगनबाड़ी में अवकाश

तेज बारिश से मलगेर मुकर्रम फूल नदी उफान पर है। बीजापुर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश से स्कूल और आंगनबाड़ी में अवकाश के आदेश जारी किए गए। लगातार बारिश से कई गांवों का संपर्क टूट गया है। बीजापुर में 48 घंटों में 219 मिलीमीटर बारिश हुई और वहीं बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया।

बस्तर में बीते 48 घंटों में हुई अच्छी बारिश का सबसे अधिक असर दक्षिण-पश्चिम बस्तर में देखने को मिला है। बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा और नारायणपुर जिले में नदी-नालों के उफान पर आने से 50 से अधिक गांवों का तहसील एवं जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। मौसम विभाग ने आगामी तीन-चार दिन तक बारिश जारी रहने की संभावना जताई है। इससे आगामी दिनों में स्थिति के और बिगड़ने की आशंका बढ़ गई है।

बाढ़ से कई गांवाें का सड़क संपर्क टूटा

बीजापुर जिले में भोपालपटनम-हैदराबाद मार्ग में 7 बीजापुर-तोएनार मार्ग में बोरजे नाला, बीजापुर-गंगालूर के बीच चेरपाल नाला, नेलसनार-मिरतूर के बीच मिरतूर नदी में बाढ़ से कई गांवाें का सड़क संपर्क बाधित है। दंतेवाड़ा जिले में कलेकल्याण-दंतेवाड़ा, बुरगुम-रेवाली मार्ग बंद है। यहां मलगेर, डूमाम, गोला नाला में बाढ़ है। सुकमा जिले में मलगेर व फूल नदी तथा मुकरम नाला में बाढ़ से दोरनापाल-जगरगुंडा, छिंदगढ़-गादीरास मार्ग बंद है।

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि मानसूनी तंत्र के प्रभाव से अभी बस्तर संभाग में कुछ क्षेत्रों में भारी से अति भारी वर्षा की संभावना है। इसके साथ ही उत्तरी छत्तीसगढ़ में हल्की से मध्यम बारिश होगी।

प्रदेश में इस सीजन में सबसे ज्यादा बीजापुर में 561.8 मिलीमीटर बारिश हुई है। जबकि बालोद में 514.6 मिमी, मुंगेली में 454.2 मिमी, राजनांदगांव में 471.8 मिमी और सुकमा में 499.6 मिमी बारिश 1 जुलाई से 19 जुलाई तक रिकॉर्ड की गई है, जो सामान्य से ज्यादा है। जबकि सरगुजा में केवल 161.8 मिमी ही बारिश हुई है, जो यहां सूखे की स्थिति को बताता है। इसके अलावा राजधानी रायपुर में 438.3 मिमी औसत बारिश हुई है, जो सामान्य है।

इन इलाकों में हुई बारिश (आंंकड़े सेंटीमीटर में )

गीदम 17, भैरमगढ़ 13, सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर 11 कटेकल्याण 10, पखांजूर, बास्तानार 9, छिंदगढ़ 8 कुआकोंडा, कोटा 7 उसूर, दरभा 6, मस्तूरी, कोंडागांव, अंतागढ़, फरसगांव, डोंगरगांव, भानुप्रतापपुर 4 बस्तर, नारायणपुर, माकड़ी, राजनांदगांव, भोपालपटनम, कांकेर, पामगढ़, ओरछा, दुर्गकोंदल 3 तथा कुछ और स्थानों पर इससे कम वर्षा दर्ज की गई।

Related Articles

Back to top button