स्वच्छ पर्यावरण स्वस्थ जीवन की अनिवार्य दशा है, इसका संरक्षण करें : राज्यपाल

रायपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर देश-प्रदेश के समस्त नागरिकों से आह्वान किया है कि पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में अपना योगदान दें। साथ ही इसके संरक्षण के लिए एकजुट होकर प्रयास करें।

राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा है कि हमारा पर्यावरण प्रकृति का अनमोल उपहार है और इसे हमें अपने और आने वाली पीढ़ी के लिए सहेज कर रखना होगा। प्राचीनकाल में हमारा जीवन प्रकृति पर आश्रित था और हम उनके महत्व को समझते थे। तब प्रकृति संतुलन की स्थिति में थी, परन्तु आज हमने अंधाधुंध विकास के नाम पर प्रकृति को असंतुलित कर दिया गया है। इसके कारण पर्यावरण प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन, बाढ़, सूखे जैसी प्राकृतिक आपदाओं का सामना हमें करना पड़ रहा है। अब समय आ गया है कि हम सजग हों और पर्यावरण को बचाएं, अन्यथा इसके गंभीर परिणाम होंगे।

राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि पर्यावरण के संरक्षण के लिए हमें दृढ़ संकल्पित रहते हुए कार्य करना होगा। उन्होंने जनता से आग्रह किया कि अपने आसपास के स्थान को स्वच्छ बनाएं, नदी, तालाब और अन्य जल स्रोतों को दूषित होने से बचाएं। कम होते भू-जल स्तर के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए उन्होनें भू-जल के संर्वधन और संरक्षण के लिए जनता से आग्रह किया है।

 उन्होंने कहा कि समस्त अभिभावक स्वयं पर्यावरण के महत्व को समझें और अपने बच्चों को भी इसके महत्व को समझाएं। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि आप सभी वृक्षारोपण करने, प्लास्टिक का उपयोग न करने का संकल्प लें। इन छोटे-छोटे कदमों से हम निश्चय ही पर्यावरण को स्वच्छ रख पाएंगे।

Related Articles

Back to top button