कार्य प्रारम्भ नहीं करने वाले ठेकेदारों की सूची तैयार करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

धमतरी
जल जीवन मिशन के तहत गठित जिला जल एवं स्वच्छता समिति की 38वीं साप्ताहिक समीक्षा बैठक का आयोजन आज सुबह दस बजे कलेक्टरपी.एस. एल्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक के दौरान कलेक्टर ने कार्य प्रारम्भ नहीं करने वाले ठेकेदारों की सूची तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। साथ ही काफी कम कार्य करने वाले ठेकेदारों की भी कार्यवार प्रगतिवार सूची बनाने के लिए सहायक अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को निर्देशित किया।

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कहा कि वर्तमान में जिस गति से कार्य चल रहा है उससे अपेक्षित प्रगति नहीं दिख रही। उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि जिन ठेकेदारों के कारण पाइपलाइन बिछाने या टंकी निर्माण कार्य में प्रगति नहीं आ रही है, उन्हें वर्तमान कार्य का हवाला देते हुए आगे का टेंडर नहीं दें। बैठक में सहायक अभियंता ने बताया कि रेट्रोफिटिंग जलप्रदाय योजना के तहत 262 के लक्ष्य के विरूद्ध 259 कायार्देश जारी हो चुके हैं और 239 कार्य प्रगति पर हैं जबकि तीन योजनाओं में प्रकरण न्यायालय में लंबित होने के कारण कायार्देश जारी नहीं किया गया है। इसी तरह सिंगल विलेज जलप्रदाय योजनाओं की साप्ताहिक प्रगति की जानकारी देते हुए बताया गया कि 361 योजनाओं में से 296 की तकनीकी स्वीकृति व 269 की प्रशासकीय स्वीकृति मिल चुकी है जिसके विरूद्ध 170 कायार्देश जारी हो चुके हैं और 101 कार्य प्रगति पर हैं। सोलर आधारित पेयजल योजनाओं की जानकारी देते हुए सहायक अभियंता ने बताया कि 80 स्वीकृति कार्यों में से सभी के कायार्देश जारी हो चुके हैं और 12 योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। पूर्ण योजनाओं में धमतरी विकासखण्ड के ग्राम जंवरगांव, खम्हरिया, खिरकीटोला, हरफतराई, कोड़ेगांव आर., कोहका, कोड़ेगांव-बी, डांगीमाचा, मोखा, बेलतरा, तिर्रा और कोलियारी तथा कुरूद विकासखण्ड के ग्राम चटौद एवं मड़ेली शामिल हैं। इस दौरान कलेक्टर ने 20 सिंगल विलेज योजना की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की। बैठक में जिला पंचायत की सी.ई.ओ. श्रीमती प्रियंका महोबिया सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button