गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी कलेक्टर

धमतरी
गोधन न्याय योजना प्रदेश सरकार की फ्लैगशिप स्कीम है। मैदानी स्तर पर योजना की स्थिति की समीक्षा करने कलेक्टर श्री पी एस एल्मा ने आज फिर चारो ब्लॉक के नोडल अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने इस दौरान साफ तौर पर निर्देश दिए हैं कि शासन की इस महती योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए सभी नोडल अधिकारियों को प्रो एक्टिव होकर काम करना होगा। उन्होंने बैठक में यह भी समझाइश दी कि योजना का बेहतर तरीके से क्रियान्वयन कराना सभी नोडल, क्लस्टर नोडल और कृषि विभाग के मैदानी अमले की जिम्मेदारी है।

बैठक लेते हुए कलेक्टर ने ज़िले के गौठानों में नियमित तौर पर गोबर खरीदी कराने के अलावा उसकी पोर्टल में ऑनलाइन एंट्री कराना नोडल अधिकारियों को सुनिश्चित करने कहा। साथ ही हितग्राहियों से खरीदे गए गोबर को टंकी में डलवाना सुनिश्चित कर तैयार खाद का उठाव की सतत मॉनिटरिंग भी करने पर जोर दिया। पिछली बैठक में कलेक्टर ने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद और वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को गोधन न्याय योजना की प्रगति की साप्ताहिक समीक्षा करने के निर्देश दिए थे। आज की बैठक में कलेक्टर ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायतों को पूरी गंभीरता के साथ योजना की प्रगति की मॉनिटरिंग करने कहा है । साथ ही ढील बरतने वाले नोडल अधिकारियों को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा जनपद स्तर की बैठक में सचिवों को भी बुलाने के निर्देश बैठक में कलेक्टर ने दिए,  जिससे योजना की प्रगति की सही तरीके से समीक्षा की जा सके और नोडल अधिकारी और सचिवों के आपसी समन्वय से योजना का बेहतर तरीके से क्रियान्वयन किया जा सके। बैठक में कलेक्टर ने गौठानों में आजीविका मूलक गतिविधियों को भी स्व सहायता समूहों के जरिए बढ़ाने पर जोर दिया। इसके जरिए महिला समूहों को आर्थिक रूप से सशक्त करने की मंशा है।

ज़िला पंचायत सभाकक्ष में आहूत इस बैठक में कलेक्टर ने दो पालियों में सक्रिय गौठानों में गोबर खरीदी, तैयार वर्मी कंपोस्ट, पोर्टल में एंट्री, बेचे गए वर्मी की गौठानवार समीक्षा की। नए बने गौठान जहां गोबर खरीदी की जानी है, उसके अधोसंरचना , एमआईएस एंट्री इत्यादि की समीक्षा भी कलेक्टर ने आज चली लंबी बैठक में की। उन्होंने सुबह 10.30 बजे से दोपहर दो बजे तक मगरलोड के 43 कुरूद के 73 तथा दोपहर तीन बजे से नगरी के 45 और धमतरी ब्लॉक के 84 गौठानों में योजना की प्रगति की एक एक कर बारीकी से समीक्षा की। गौरतलब है कि फिलहाल ज़िले में बने 333 गौठानों में से 252 गौठानों में गोबर खरीदी की जा रही है। योजना शुरू होने से अब तक 317666 किं्वटल गोबर खरीदी  9268 पंजीकृत हितग्राहियों से की गई है। हितग्राहियों को इसके एवज में 6 करोड़ 35 लाख 33 हजार का भुगतान किया गया है। खरीदे गए गोबर से वर्मी कंपोस्ट 53 हजार 927 किं्वटल, सुपर कंपोस्ट 6936 किं्वटल कुल 60863 किं्वटल खाद तैयार किया गया है। कलेक्टर ने नियमित तौर पर गौठानों की मॉनिटरिंग कर योजना को मिशन मोड पर चलाने के निर्देश दिए। इस दौरान गौठान नोडल,संबंधित मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत और उप संचालक कृषि सहित वरिष्ठ कृषि विकास, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button