छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में रात करीब 2 बजे भयंकर हादसा, जिंदा जल गईं 3 बहनें और मम्मी-पापा

रायपुर। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में चलती कार में लगी आग से पूरा परिवार जिंदा जल गया। इस दिल दहलाने वाली घटना ने सबके रौंगटे खड़े कर दिए हैं। यह परिवार एक शादी से लौट रहा था। पुलिस की जानकारी के अनुसार, खैरागढ़ के गोलबाजार के रहने वाले सुभाष कोचर बिजनेसमैन थे। वे एक शादी में शामिल होने बालोद गए थे। साथ में पत्नी कांति और 20 से 27 साल की उम्र की तीन बेटियां भावना कोचर, वृद्धि कोचर और पूजा कोचर भी थीं।

जब यह परिवार शादी में शामिल होने के बाद वापस घर लौट रहा था, तभी गुरुवार रात करीब 2 बजे उनकी ऑल्टो कार ने खैरागढ़ रोड पर ठेलकाडीह क्षेत्र के नजदीक सिंगारपुर गांव के पास एक पुलिया से टकरा गई। माना जा रहा है कि कार की रफ्तार तेज रही होगी। पुलिया से टकराने के बाद कार में आग लग गई। वे पांचों कार से बाहर नहीं निकल पाए और जिंदा जल गए। इस भयंकर हादसे की सूचना के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची। शुक्रवार सुबह फॉरेसिंक टीम को घटनास्थल पर बुलाया गया। कार में आग कैसे लगी, इसक जांच कराई जा रही है।

सबसे पहले यह हादसा गांव वालों ने देखा। उन्होंने सबको बचाने की कोशिश की, लेकिन तब तक पांचों जल चुके थे। गांववालों की सूचना के बाद ठेलकाडीह थाना पुलिस के साथ SDOP खैरागढ़ भी मौके पर पहुंचे।  इसके बाद कार में फंसी लाशों को बाहर निकाला गया। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाकर पुलिस जांच में जुट गई है।

कार सुभाष कोचर चला रहे थे। आशंका है कि रात को झपकी आने से वे स्टीयरिंग से नियंत्रण खो चुके होंगे। इससे कार पुलिया से जा टकराई। सुभाष कोचर खैरागढ़ के प्रतिष्ठित व्यापारियों में शुमार थे। उनका साइकिल का बड़ा शोरूम है। इस हादसे पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दु:ख जताया है।

Related Articles

Back to top button