धान की खरही में लगी आग, अब तक नहीं मिला मुआवजा

दुर्ग
पाटन ब्लाक के गाँव बोरिद के एक किसान ने जनदर्शन में अपना आवेदन लगाया। उसने बताया कि दो साल पहले उसने फसल काट कर रखी थी। आशंका है कि किसी ने धान की खरही में आग लगा दी जिससे उसका बड़ा नुकसान हुआ। नुकसान के मुआवजे के लिए उसने आवेदन लगाया है लेकिन अब तक आवेदन पर कार्रवाई नहीं हुई है। कलेक्टर ने इस प्रकरण में तत्काल आवेदन पर नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

जनदर्शन में बोरिद गांव के ही ग्रामीणों ने सिंचाई सुविधा बढ़ाने की माँग भी रखी। जुनवानी के लोग भी आज जनदर्शन में पहुंचे। वहां उन लोगों ने बताया कि यहां पुराना शीतला तालाब है। इसे साफ कराने के लिए जेसीबी का उपयोग करना होगा। गहरीकरण से तालाब भी उपयोगी होगा और कचरा भी बाहर हो जाएगा। लहंगा गाँव के एक ग्रामीण ने बताया कि उसका रास्ता बंद कर दिया गया है जिससे काफी दिक्कत हो रही है। इसी तरह से स्कूल से संबंधित आवेदन भी आये। स्कूल से संबंधित एक ऐसे ही आवेदन में अभिभावक ने बताया कि उनका बच्चा एक निजी स्कूल में पढ़ता है। निजी स्कूल का प्रबंधन उसे टीसी नहीं प्रदान कर रहा है। कलेक्टर ने इस प्रकरण में जिला शिक्षा अधिकारी को मामले के त्वरित निराकरण कर अभिभावक को राहत देने के निर्देश दिये। आज आये जनदर्शन के आवेदनों पर शाम को हुई समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने विस्तार से अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कुछ आवेदन ऐसे हैं जो लोक सेवा गारंटी अधिनियम से संबंधित सेवाओं से होते हैं। जनदर्शन में आ रहे आवेदनों की समीक्षा करें और यह देखें कि आवेदन किस क्षेत्र से अधिक आ रहे हैं। इससे क्षेत्र विशेष के अधिकारियों की मानिटरिंग भी हो पायेगी कि किस तरह वो लोगों को प्रभावी सेवाएं देने की भूमिका निभा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button