बुरूंगवाड़ा में प्लास्टिक रिसाइकिल फैक्ट्री का होगा शिलान्यास 14 को

जगदलपुर
प्लास्टिक को फिर से उपयोग में लाने के लिए जगदलपुर के करीब ग्राम बुरूंगवाड़ा (बाबू सेमरा) में 05 करोड़ की लागत से करीब 22 हजार वर्ग फीट के इलाके में शासकीय प्लास्टिक रिसाइकिल फैक्ट्री लगाये जाने की तैयारी शुरू हो गई है, 14 सितंबर को शिलान्यास किया जायेगा। अगले तीन महीने में यह प्लास्टिक को रिसाइकिल करने का काम शुरू हो जायेगा। इस शासकीय फैक्ट्री से पर्यावरण को बचाने के साथ इलाके के महिला समूह की महिलाओं को नया रोजगार भी मिलेगा। निगरानी रखने के लिए एक एप भी बनाया जा रहा है। इस एप के जरिए कचरा कलेक्शन से लेकर फैक्ट्री के प्रोडक्शन तक जानकारी मिलेगी। कलेक्टोरेट में सीसीई के प्रतिनिधि ने कचरा कलेक्शन से लेकर उसके मैनेजमेंट और आखिरी उत्पाद तैयार करने •े संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई है।

इधर प्लास्टिक जमा करने रिवर्स वेंडिंग मशीन पर्यटन स्थल चित्रकोट और दलपत सागर के पास लगाई जाएगी। इसमें प्लास्टिक बोतल को एकत्र किया जाएगा। साथ ही बोतल लाने वाले को कूपन दिया जाएगा। कूपन का उपयोग बस्तर कैफे में किया जा सकता है। इसके अलावा बड़े बाजार स्थल पर प्लास्टिक लाओ थैला पाओ जैसे कैंपेन भी चलाए जाएंगे। इसके अलावा 114 गांवों से निकला प्लास्टिक कचरा महिला समूहों से खरीदा जाएगा। अभी प्लास्टिक की बोतल और इस तरह के प्लास्टिक की कीमत 10 से 15 रुपए किलो है। इसके बाद यह कचरा रिसाइकिल होने के लिए फैक्ट्री में जाएगा। जब प्लास्टिक गलाकर दाने का रूप लेगा तो यह बाजार में 55 रुपए प्रति किलो तक बिकेगा। इस दाने को बेचने से जो फायदा होगा वह भी महिला समूह की महिलाओं को ही दिया जाएगा। मशीनें चलाने की ट्रेनिंग भी स्थानीय महिलाओं एवं युवकों को दी जाएगी।

कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया कि प्राकृतिक सुंदरता से पहचाने जाने वाले बस्तर के वातावरण को हमेशा स्वच्छ रखने के लिए स्वच्छता के तहत रिसाइकिल वेस्ट मैनेजमेंट में बस्तर की अलग पहचान बनाने का प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्र को कचरा से मुक्त रखने के लिए सीईई (सेंटर फॉर एनवायरमेंट एजुकेशन) के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा कर रिसाइकिल वेस्ट मैनेजमेंट के लिए एक फैक्ट्री तैयार करवाई जा रही है। यह फैक्ट्री पर्यावरण तो बचाएगी ही, लोगों को रोजगार भी देगी।

Related Articles

Back to top button