हाट बाजारों में ग्रामीणों का निशुल्क इलाज

दंतेवाड़ा
दूरस्थ व दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीणों के लिए मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना बेहद लाभकारी साबित हो रही हैं। लोग अब बाजार स्थल में भी उपचार की सुविधा प्राप्त कर रहे हैं। जिले के तीन विकासखण्डों के चिन्हांकित 20 हाट-बाजारों में आवश्यक दवाइयों एवं उपकरणों के साथ स्वास्थ्य विभाग द्वारा शिविर लगाकर ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर  उनका उपचार एवं दवाई का निशुल्क वितरण किया जा रहा है।

 जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गिरीश शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना जिले के सभी प्रमुख क्षेत्रों में संचालित हो रही है, जिसके तहत चिकित्सकों द्वारा बाजार में ही निश्चित स्थल पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर ग्रामीणों का मौसमी सर्दी-खांसी बुखार, दर्द, मलेरिया, पेचिस, दस्त, उल्टी, रक्त अल्पता, कमजोरी, ब्लड प्रेशर, मधुमेह, आदि बीमारियों की जांच, उपचार व चिकित्सकीय परामर्श के साथ ही टीबी एवं कैंसर के संभावित मरीजों की स्क्रीनिंग भी की जा रही है। इस योजना के तहत जिले में कुल 20 हॉट बाजारों के माध्यम से ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवा का लाभ प्रदान किया जा रहा है। परीक्षण के उपरांत उन्हें तत्काल नि:शुल्क दवाओं का भी वितरण किया जाता है। शिविर में आए मरीजों को गंभीर रोग होने की स्थिति में मुख्यालय अथवा अन्य बड़े अस्पतालों के लिए रिफर भी किया जाता है। योजना की शुरूआत से अब तक 1860 जांच शिविर लगाया गया है।

जिले में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना में 19 जून 2019 से 31 मार्च 2022 तक 1,860 जाँच शिविर लगाए गए हैं जिसमें कुल 89, हजार 024 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। इनमे से 51, हजार 335 ग्रामीणों का लैब जांच किया गया वहीं 435 गंभीर मरीजों को इलाज हेतु रिफर किया गया। आंकड़ों के अनुसार प्रत्येक बाजार में औसतन 48 मरीजों को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ प्रदान किया गया है। एमएमयू एंबुलेंस के माध्यम से बाजार में ही मरीजों की समस्त जांच एवं उपचार सुलभ हो पा रही है योजना का लक्ष्य वाक्य जो  ना पहुंचे हम तक हम पहुंचे उन तक वास्तपव सफल नजर आता आ रहा है निश्चित तौर पर जिले की पहुंच विहीन भी इलाकों में यह योजना वरदान साबित हो रही है जिले के चेरपाल ग्राम पंचायत में योजना की शुरूआत से अब अबूझमाड़ इलाकों में भी जन सामान्य को शासकीय योजनाओं का भरपूर लाभ मिलने लगा है।

मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना से जिले के अंतिम छोर के गांव तक भी स्वास्थ्य सुविधा की पहुँच सुलभ हो गई है, जिसका लाभ ग्रामीणों को मिल रहा है। वर्तमान में जिले के दन्तेवाड़ा विकासखण्ड के दन्तेवाड़ा, बचेली, मेटापाल, भांसी पोंदुम, कावंडगाँव, गीदम विकासखण्ड के गीदम, बारसूर, बड़े तूमनार, छिंदनार, बोदली, फरसपाल, चेरपाल में कुआकोंडा विकासखण्ड के नकुलनार, पालनार, किरन्दुल, पोटाली तथा कटेकल्याण विकासखंड के कटेकल्याण, सुफनार और मोखपाल में साप्ताहिक बाजार के दिन बाजार स्थल पर मरीजों का इलाज स्वास्थ्य शिविर लगाकर किया जा रहा हैं।

Related Articles

Back to top button