कांग्रेस मुख्यालय में धरना देने के बाद मिला गांधी को राहुल गांधी से मिलने का समय, 18 को मिलेंगे

बिलासपुर
छत्तीसगढ़ में शराबबंदी की मांग को लेकर चर्चा में आए संजय आयल सिंघानी जिसे बिलासपुर के साथ ही छग की जनता गांधी के नाम से जानते हैं, उन्होंने राहुल गांधी से मिलने के लिए बिलासपुर से नई दिल्ली तक 1026 किलोमीटर की पदयात्रा की और फिर इंडिया गेट के सामने धरने पर बैठे, इसके बाद 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय के सामने धरना दिया तब कहीं जाकर राहुल गांधी से 18 सितंबर को मिलने का समय मिला। छग के गांधी चार सदस्यों के साथ मुलाकात कर छग में पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर उनसे चर्चा करेंगे।

तिफरा के यदुनंदनगर निवासी संजय आयल सिंघानी राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी की मांग कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने महात्मा गांधी का रूप धारण किया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित अन्य मंत्रियों से मुलाकात की। इसके साथ ही नेहरू चौक में तीन महीने तक धरना भी दिया लेकिन मांग की पर राज्य सरकार की ओर से कोई भी निर्णय नहीं लिए जाने के बाद कारण वे पिछले 15 अगस्त को बिलासपुर से महात्मा गांधी का वेश में धोती, बनियान और लाठी लेकर पैदल निकल गए। पेंड्रा, गौरेला होते हुए अनूपपुर-शहडोल मैहर, झांसी होते हुए उन्होंने 1026 किमी पदयात्रा कर दिल्ली का सफर पूरा किया। 4 सितंबर को दिल्ली पहुंचने के बाद उन्होंने 10 जनपथ स्थित राहुल गांधी के निवास पहुंचे, जहां उन्हें मिलने नहीं दिया गया। फिर इंडिया गेट में धरना दिया, तब पुलिस वालों ने उन्हें हटा दिया और 24 अकबर रोड में राहुल गांधी से मुलाकात होने की जानकारी दी। इसके बाद वे कांग्रेस मुख्यालय गए, जहां राहुल से मुलाकात नहीं हुई, तो वे कांग्रेस मुख्यालय के सामने ही धरने पर बैठ गए।

इसके बाद कांग्रेस के कुछ पदाधिकारियों ने उनसे मुलाकात की और उन्हें बताया कि राहुल गांधी ने उन्हें चार सदस्यों के साथ 18 सितंबर को मिलने का समय दिया है। राहुल गांधी से समय मिलने के बाद संजय आयल दिल्ली से बिलासपुर आने के लिए निकल गए हैं और बुधवार की सुबह वे बिलासपुर पहुंच जाएंगे। इसके बाद 18 सितंबर को दोबारा राहुल से मिलने दिल्ली जाएंगे और उनसे मुलाकात कर छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी करने की मांग करेंगे।

Related Articles

Back to top button