सरकार ने निर्णय लिया: छत्तीसगढ़ के स्थानीय छात्र अब नहीं देंगे एग्जामिनेशन फीस

रायपुर
छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र जारी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बतौर वित्त मंत्री अपने कार्यकाल का चौथा बजट पेश कर दिया है। बजट में राज्य के युवाओं को स्थानीय प्रतियोगिता परीक्षाओं में परीक्षा शुल्क माफ करने का सरकार ने निर्णय लिया है। इसका एलान सीएम बघेल ने बजट भाषण के दौरान किया।  

अब छात्रों के पैसे बचेंगे दरअसल व्यापम और सीजी पीएससी द्वारा आयोजित परीक्षाओं की तैयारी के लिए गांव गांव से छात्र शहरों में रहकर पढ़ाई करते है। तैयारियों में छात्रों को कोचिंग के अलावा रहने-खाने का खर्च भी उठाना पड़ता है। इससे छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए सरकार ने राज्य के स्थानीय युवाओं को प्रतियोगिता परीक्षा में शुल्क माफ करने का निर्णय लिया गया है।

व्यापम और सीजी पीएससी के परीक्षाओं में 200 रुपए से लेकर 500 रुपए तक फीस देनी पड़ती है। हाल ही में फरवरी में आयोजित सीजी पीएससी के एग्जाम में एक लाख से अधिक छात्रों ने हिस्सा लिया था, ऐसे लाखों रुपए पीएससी के खाते में जाते थे। सरकार ने मान ली युवाओं की मांग बजट भाषण में सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ व्यवसायिक परीक्षा मंडल और लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित किए जाने वाली परीक्षाओं में राज्य के स्थानीय प्रतिभागियों का परीक्षा शुल्क माफ करने की घोषणा करता हूं। मुख्यमंत्री बघेल की इस घोषणा पर छात्रों ने खुशी जताई है।

साथ ही राजीव युवा केन्द्र के माध्यम से युवाओं को विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को प्रोत्साहन देना भी अच्छा कदम है। इसके अलावा 32 नए आत्मनन्द स्कूल की स्वीकृति से सैकड़ों युवाओं के लिए रोजगार के सृजन की संभावना बनेगी।

Related Articles

Back to top button