सल्फीपदर बहुद्देशीय सहकारी समिति के कार्य देख अभिभूत हुईं राज्यपाल

सल्फीपदर /कोंडागांव

महामहिम राज्यपाल अनुसुइया उइके शुक्रवार को अपने गोद लिए गाँव सल्फीपदर का प्रवास किया और गाँव वालों से सीधा संवाद किया है । ग्राम में चल रहे विकास कार्यों और स्व-सहायता समूहों की आर्थिक गतिविधियों सम्बन्धी उनकी सक्रियता के बारे में बातचीत की है।

ग्रामवासियों ने राज्यपाल महोदय को बताया है कि ग्राम में एक सल्फीपदर बहुद्देशीय सहकारी समिति का पंजीयन प्रक्रिया में है , इसी तरह ग्राम के स्व-सहायता समूह इमली का प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन कर तैयार उत्पादों का विपणन कर रहे है।विदित हो कि सल्फीपदर सामुदायिक केंद्र को आर्थिक गतिविधियों के लिए सुरक्षित रखा गया है .यहाँ ग्राम वासियों को प्राप्त हायड्रोलिक मशीनों पर इमली चपाती बनाने का कार्य किया जाता है । ग्राम के सभी स्व-सहायता समूह इस कार्य में दक्ष हो गएँ हैं। चूँकि यह सीज? आधारित गतिविधि है इसलिए इसका कार्य गर्मियों के मौसम में चलता है।

ग्राम के सक्रिय कार्यकर्ता बिसरू नेताम और सुखलाल ने बताया है कि ग्राम को सामुदायिक वनाधिकार पट्टा आबंटित किया गया है । ग्रामवासी अन्य उपलब्ध वनोपज के प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन पर कार्य करना चाहते है , इसके अलावे वे कोंडागांव में चल रहे कोंडानार ब्रांड के उत्पादों से भी प्रेरित है तथा सल्फिपदर में ही कृषि व वन से इतर गतिविधियों को संचालित करने में रूचि रखते है। ग्राम की महिलाओं ने बताया है कि "सल्फीपदर बहुद्देशीय सहकारी समिति" कन्वेंशनल ओरगेनिक उत्पादों के निर्माण के लिए मन बना चुकी है । ग्रामवासी कन्फेक्शनरी और हैण्ड मेड कुकीज का निर्माण और विपणन करना चाहते है । इससे सम्बन्धी एक प्रतिवेदन ग्रामवासियों ने राज्यपाल को सौंपा है।राज्यपाल ने हर संभव सहायता करने की बात कही है।

विदित हो की ग्रामवासियों को तकनिकी सहयोग छत्तीसगढ़ महिला मंच से प्राप्त हो रहा है । मंच के वरिष्ठ सलाहकार सिद्धार्थ ने बताया है कि इमली आधारित एक समेकित परियोजना प्रस्ताव तैयार किया गया है ,जिसमे इमली के विभिन्न उत्पादों का निर्माण किया जायेगा ।

Related Articles

Back to top button