जगदलपुर में हियरिंग केयर सेंटर का शुभारंभ

जगदलपुर
हियरिंग केयर सेंटर (स्पीच लैंग्वेज इंटरवेन्शन सेंटर फार आल एज ग्रुप)का छत्तीसगढ़ में 11 वां क्लीनिकल सेंटर जगदलपुर में शनिवार, 8 अक्टूबर से शुरू हुआ है। आदिवासी बाहुल्य इलाके में इसे प्रारंभ करने का उद्देश्य जिन बच्चों व बड़ों को बहरापन या कान से संबंधित कोई परेशानी हो उसका आधुनिक तकनीक से जांच व समाधान तथा ऐसे बच्चे जिन्हे सुनने के साथ बोलने की दिक्कत हो कांकलियर इंप्लांट कराने के लिए उन्हे इलाज के लिए भटकना न पड़े। इनसे से जुड़ी सारी चिकित्सकीय सुविधाएं यहां आसानी से उपलब्ध हो सकेगी। विशेष बात यह है कि अब तक उनके द्वारा 18 कांकलियर इंप्लांट किए गए हैं और सभी पूरी तरह से सफल रहे हैं और ऐसे लोग उपचार के बाद बोल व सुन रहे हैं। सेंटर प्रारंभ करने के एक सप्ताह तक सभी प्रकार के चिकित्सकीय परामर्श नि:शुल्क प्रदान किये जायेंगे। जगदलपुर में हियरिंग केयर सेंटर विनाका माल चित्रकोट रोड, धरमपुरा में शुरू हुआ है।

आडियोलाजिस्ट राकेश पांडेय, रूचिरा पांडेय एवं देव बी. मिश्रा ने संयुक्त रुप से बताया कि जगदलपुर के नव शुभारंभ सेंटर से पहले रायपुर के अलावा बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, अंबिकापुर, धमतरी, बलौदाबाजार, दुर्ग, भिलाई व राजनांदगांव जैसे बड़ी जगहों पर हियरिंग केयर सेंटर संचालित हो रहे हैं। कान से संंबंधित सभी प्रकार के इलाज यहां किये जा रहे हैं। कम उम्र के बच्चे (तीन साल के अंदर तक) यदि बोल सुन नहीं पा रहे हैं तो घबराइए नहीं, कांकलियर इंप्लांट से ऐसे बच्चे सुनने व बोलने लगते हैं यहां तक जन्म से बहरे भी सुनने लगते हैं। इसके लिए जरूरी है समय रहते उपचार।

क्या होता है कांकलियर इंप्लांट
जब सामान्यत: सुनने वाली मशीन काम नहीं देती है तब आडियोलाजिस्ट भी कांकलियर इंप्लांट की सलाह देते हैं। यह एक इलेक्ट्रानिक उपकरण है कांकलियर इंप्लांट में एक बाहरी भाग होता है जो कान के पीछे बैठता है और दूसरा भाग कान के भीतर बिठाया जाता है, इसके लिए सर्जरी की जाती है। बाहरी भाग ध्वनि को पकड़ता है उसे संसाधित करता है और आंतरिक भाग संसाधित ध्वनि संकेतों को भीतरी कान तक पहुंचाता है जो कि ध्वनि को सुनने व समझने में सक्षम बनाते हैं। कांकलियर इंप्लांट के बाहरी भाग में एक तो माइक्रोफोन के साथ स्पीचप्रोसेसर व दूसरा ट्रांसमीटर होता है। स्पीचप्रोसेसर कान की मशीन के समान ही दिखता स्पीच थेरेपी भी कांकलियर इंप्लांट का महत्वपूर्ण हिस्सा है जो आवाज और मौखिक संचार व गले से संबंधित पीड़ित बच्चों के लिए एक उपचार विधि है।

हियरिंग केयर सेंटर की ओर से समय-समय पर जनजागरूकता को लेकर मुफ्त जांच व परामर्श शिविर का आयोजन भी किया जाता है ताकि लोगों को बहरापन ही नहीं बल्कि कान से जुड़ी सारी समस्याओं के बारे में जानकारी मिल सके और वे समय रहते उपचार करा सकें। हियरिंग उपकरणों का फ्री ट्रायल के बाद जरूरत पडऩे पर इसकी उपलब्धता भी उचित कीमत के साथ करायी जाती है। जिन बच्चों का इंप्लांट कराया जाता है उनके पैरेंट्स के लिए अलग से परामर्श शिविर लगाते हैं। जगदलपुर में शुभारंभ अवसर पर 10 से 15 अक्टूबर तक नि:शुल्क शिविर का आयोजन सुबह 11 बजे से लेकर शाम के 6 बजे तक किया गया है। आडियोलाजिस्ट उपचार से संबंधित परामर्श देंगे। जिसके लिए संपर्क नंबर 91444 14449 एवं 86029 02884 जारी किया गया है।

विनाका माल चित्रकोट रोड,धरमपुरा जगदलपुर में हियरिंग केयर सेंटर का शनिवार 8 अक्टूबर को मां दंतेश्वरी की चरणों में पूजा अर्चना के बाद विधिवत शुभारंभ हुआ। शुभारंभ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संसदीय सचिव व विधायक रेखचंद जैन थे व अध्यक्षता की मिथिलेश स्वर्णकार, चेयरमेन स्टेट रिनेवेबल इनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी ने तथा विशेष अतिथि के रूप में रायपुर नगर निगम के पूर्व महापौर एवं वर्तमान सभापति प्रमोद दुबे तथा जगदलपुर नगर निगम के पूर्व महापौर किरणदेव शामिल रहे। शहर के चिकित्सक, गणमान्यजन के साथ हियरिंग केयर सेंटर परिवार के सदस्य भी सहभागी रहे।

Related Articles

Back to top button