152 स्कूलों में प्रोजेक्टर से बच्चे स्मार्ट क्लास में कर रहें हैं शिक्षा ग्रहण

दंतेवाड़ा
नक्सल प्रभावित स्कूल के बच्चे अब प्रोजेक्टर से पढ़ाई कर रहें हैं। इससे नक्सल क्षेत्रों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हो रहा है। जिले के घुर नक्सल प्रभावित सुरनार में भी बच्चे स्मार्ट क्लास में प्रोजेक्टर के माध्यम से शिक्षा ग्रहण कर रहें हैं। नक्सल क्षेत्र के बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने •े लिए नई शुरूआत की गई है। जिले में अभी 152 स्कूलों में प्रोजेक्टर के माध्यम से बच्चों को शिक्षा दी जा रही है। स्मार्ट क्लासों के लिए टीचर्स को अलग से ट्रेनिंग भी दी गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नक्सल क्षेत्र के स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था बढ़ाने •े लिए नया प्रयोग जिले में किया जा रहा है। जिले में प्रोजेक्टर के माध्यम से पहली से 12 वीं तक का सिलेबस उपलब्ध है, जिसे लेकर छात्र-छात्राओं में काफी उत्साह भी देखने को मिल रहा है। नक्सल प्रभावित क्षेत्र के बच्चों को जिले में अभी 152 स्कूलों में स्मार्ट क्लास चल रहा है। प्रोजेक्टर से जहां पढ़ाई हो रही है उन स्कूलों में बच्चों की उपस्थित बढ़ी है। इसकी लगातार निगरानी भीगी जा रही है।

दंतेवाड़ा के जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा ने बताया कि स्मार्ट क्लास में सवालों के उत्तर के आप्शन मिलते हैं। सवाल का जवाब सही है या गलत प्रोजेक्टर में पता चल जाता है। गणित के सवाल हल करने में भी आसानी हो रही है। जिला मुख्यालय से इसकी दूरी 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम सुरनार सरपंच कृप कुमार ने शिक्षा विभाग को बधाई दी, सरपंच ने कहा नक्सल क्षेत्र के बच्चे इससे स्कूल जाने में रुचि दिखा रहें हैं, गांव •े बच्चे भी स्मार्ट क्लास से स्मार्ट बनेंगे।

Related Articles

Back to top button