मनरेगा के तहत 100 दिन का रोजगार देने के मामले में जैजैपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत आमाकोनी पूरे जिले में पहले स्थान पर

जांजगीर चांपा
कोरोना काल में मनरेगा योजना ने ग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवारों तथा प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार और आजीविका के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ( मनरेगा) के तहत परिवारों को 2021- 22 में 100 दिन रोजगार द़ेने के मामले में जांजगीर चांपा जिले के 643 ग्राम पंचायतों में जैजैपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत आमाकोनी पहले स्थान पर हैं। जहां 307 कुल कार्यरत परिवारो में रिकॉर्ड 137 परिवारों को 100 दिन का रोजगार दिया गया हैं।

जैजैपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत आमाकोनी में एक वर्ष में 307 परिवारो को 22056 मानव दिवस रोजगार उपलब्ध कराया गया हैं। केंद्र एवं राज्य सरकार ने श्रमिकों के आर्थिक हितों की रक्षा के लिए पहल की जिससे प्रेरित होकर ग्राम पंचायत आमाकोनी के युवा सरपंच परदेशी खूंटे ने अपने ग्राम पंचायत में मनरेगा के रिकार्ड कार्य स्वीकृत कराएं। परिणाम स्वरूप ग्राम पंचायत में विकासात्मक कार्य शुरू हुआ और पूरे साल लोगों को रोजगार मिलता रहा जिससे ग्रामीणों को निरंतर आय के स्रोत मिला जिससे लोगों को फायदा हुआ। ग्राम पंचायत आमाकोनी अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति बाहुल्य ग्राम पंचायत हैं यहां पहली बार ऐसा हुआ है की लोगों 100 दिन का रोजगार मिला हो अपने पंचायत में ही 100 दिन का रोजगार पाकर ग्रामवासी काफी खुश नजर आए।पूरे जिले में 18 हजार से ज्यादा परिवारों को मिला 100 दिन का रोजगार।

जिले में सत्र 2021 22 में कुल 18143 परिवारों को 100 दिन का रोजगार मिला तो वही 6861715 मानव दिवस कार्य हुआ जिसमे जांजगीर चांपा जिले के जैजैपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत आमाकोनी मनरेगा के तहत 100 दिनों का रोजगार देने के मामले में पहला स्थान प्राप्त कर एक बड़ी उपलब्धि हासिल किया। वही दूसरे स्थान पर पामगढ़ ब्लाक के ग्राम पंचायत हिररी रहा जहां 136 परिवारों को सौ दिन का रोजगार मिला। अकलतरा ब्लाक के बम्हनी तीसरे स्थान पर रहे जहां 134 परिवारों को 100 दिन का रोजगार मुहैया कराया गया।

इन्होने कहा
मनरेगा कार्यों को पूरा करने के लिए विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के कार्यों को सम्मिलित किया गया है ताकि इन कार्यों में लगे व्यक्तियों को निरंतर कार्य प्रदान किया जा सके। इसमें कच्ची सड़क निर्माण, डबरी निर्माण कार्य, नया तालाब निर्माण, गौठान निर्माण, जल संचयन टैंक, डाईक निर्माण कार्य शामिल हैं। पूरे जिले में पहला स्थान प्राप्त करना गौरव की बात हैं।
परदेशी खूंटे सरपंच ग्राम पंचायत आमाकोनी

Related Articles

Back to top button