बस्तर फाइटर भर्ती में फर्जी दस्तावेज के जरिए नौकरी पाने की जांच शुरू हुई

जगदलपुर
बस्तर फाइटर भर्ती में फर्जी तरीके से नौकरी हथियाने के मामले की जांच शुरू कर दी गई है। शिकायतकर्ता और आरोपी युवक का बयान दर्ज करने के बाद आज एसडीएम ने ग्राम छोटे देवड़ा जाकर मामले से जुड़े पहलुओं की पड़ताल किया है। मामले के आरोपी कमलोचन और उसके पिता पाकलू से बयान लिया जा चुका है, साथ ही शिकायतकर्ता मानसिंह का भी बयान दर्ज हो चुका है। बस्तर एसडीएम ओमप्रकाश वर्मा ने ग्राम छोटे देवडा के पंचायत भवन में पटवारी, शिकायतकर्ता और आरोपी एवं पूर्व व वर्तमान सरपंच आदि के बयान दर्ज किया है। जांच अधिकारी एसडीएम श्री वर्मा ने इसकी पुष्टि की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायत करने वाला युवक बकावंड तहसील के ग्राम छोटे देवड़ा निवासी है। वहीं आरोपित कमलोचन पिता पाकलू दिशा ओड़िशा का मूल निवासी है, तथा कुछ सालों से छोटे देवड़ा में ही आ बसा है। आरोप है कि कमलोचन ने स्वयं को छोटे देवड़ा निवासी आदिवासी सोमारु का पुत्र बताकर फर्जी जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बनवाकर फर्जी दस्तावेज के जरिए बस्तर फाइटर की नौकरी हासिल कर लिया। शिकायतकर्ता मानसिंग सोमारु की बेटी घासनी का पुत्र यानि उस व्यक्ति का नाती है। मानसिंह का साफ कहना है कि सोमारू का एकमात्र बेटा सुखराम था, जिसका निधन हो चुका है। कमलोचन तो सोमारू का पुत्र है ही नहीं।

Related Articles

Back to top button