विचाराधीन बंदी के उपचार के दौरान हुई मृत्यु की होगी दंडाधिकारी जांच

जगदलपुर

सुकमा जिले के गोगुण्डा निवासी 40 वर्षीय विचाराधीन बंदी मुचाकी देवा पिता हड़मा के उपचार के दौरान हुई मृत्यु की दंडाधिकारी जांच के निर्देश कलेक्टर चंदन कुमार द्वारा दिए गए हैं। उन्होंने मृत्यु की जांच के लिए संयुक्त कलेक्टर डीआर ठाकुर को जांच दंडाधिकारी नियुक्त किया है।
संयुक्त कलेक्टर डीआर ठाकुर ने बताया कि सुकमा जिले के गोगुण्डा निवासी 40 वर्षीय विचाराधीन बंदी मुचाकी देवा पिता हड़मा को जेल चिकित्सक के परामर्श अनुसार 9 जून 2022 को शासकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल डिमरापाल जगदलपुर में उपचार करया जा रहा था, जहां उपचार के दौरान 10 जून 2022 की दरमियानी रात एवं 11 जून की प्रात: 03.15 बजे बंदी को मृत घोषित किया गया। उन्होंने बताया कि विचाराधीन बंदी मुचाकी देवा पिता स्व. हडमा उम्र 40 वर्ष निवासी डुगिनपारा गोगुण्डा थाना चिंतागुफा की मृत्यु के संबंध में किसी प्रकार की जानकारी अथवा साक्ष्य होने पर स्वयं अथवा अपने अधिवक्ता के माध्यम से 21 सितंबर 2022 तक इस कार्यालय के कक्ष क्रमांक 21 (नजूल नवकरण शाखा) में प्रस्तुत कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button