छोटेडोंगर शीतला मंदिर में आमदई खदान के मजदूरों की हुई बैठक

नारायणपुर
जिला मुख्यालय से 43 किलोमीटर दूर ग्राम छोटेडोंगर में आमदई खदान में कार्यरत स्थानिय 327 मजदूरों द्वारा शीतला मंदिर में एक बैठक आहूत की गई जिसमें जायसवाल निको द्वारा खदान में बाहर के मजदूरों को लेने, मजदूरी बढ़ाने, खूनी रफ्तार से दौड़ रही ट्रकों पर अंकुश लगाने, प्रदूषण रोकने आदि विषयों पर चर्चा हुई।

मजदूरों का कहना है कि नारायणपुर ओरछा मार्ग में खूनी रफ्तार से वाहन चालकों द्वारा वाहन चलाया जा रहा है और इससे आये दिन दुर्घटनाएं हो रही है, जिसमें कई लोगों को जान से हाथ धोना पड़ रहा है, लेकिन प्रशासन इस पर अंकुश लगाने में विफल साबित हो रही है। वहीं सड़कों पर माल वाहक वाहनों के चलने से आस-पास घरों में धूल से ग्रामीण परेशान हैं, प्रदूषण से बिमारी की संभावना बढ़ गई है। वहीं भारी वाहनों के सड़क पर चलने से सड़क जर्जर हो रही है। नारायणपुर ओरछा सड़क का निर्माण हुए दो साल ही हुए हैं और अभी से सड़क उखड?े लगी है।

मजदूरों का कहना है कि यदि आने वाले समय में वाहनों की रफ्तार कम नहीं की गई तो ग्रामीणों को सड़क पर उतर कर प्रर्दशन करना पड़ेगा। उन्होने कहा कि दन्तेश्वरी जनकल्याण समिति का संचालन करेंगे मजदूर संघ-छोटेडोंगर में पूर्व में गठित दंतेश्वरी जनकल्याण समिति का संचालन प्रभावित सात पंचायत के सरपंच पटेल व ग्राम प्रमुखों द्वारा किया जा रहा था परन्तु शनिवार को बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि समिति का संचालन अब आमदई खदान में कार्यरत मजदूरों द्वारा किया जायेगा। इस समिति द्वारा ही खदान •े वाहनों की पर्ची काटी जायेगी।

Related Articles

Back to top button