हाथी के हमले से पिता और मासूम बेटी की मौत पर विधायक ने जताया गहरा दु:ख

मनेंद्रगढ
हाथियों के हमले से मासूम बेटी और उसके पिता की असामयिक मृत्यु से मुझे गहरा दु:ख हुआ है। इस हृदय विदारक घटना में शोक-संतप्त परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।

उक्त बातें सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने कही। मनेंद्रगढ़ वनमंडल के जनकपुर रेंज के ग्राम बेलगाँव में बीती रात हाथियों के दल ने दस्तक दी और घर के अंदर सो रहे 30 वर्षीय गुलाब सिंह और उसकी 6 वषीर्या मासूम बेटी बिंदु उर्फ सानू को बेरहमीपूर्वक कुचलकर मार दिया। हादसे में मृतक की पत्नी 30 वषीर्या सुनीता सिंह किसी प्रकार घर से दूर भागकर अपनी जान बचाने में सफल रही। इधर इस दु:खद घटना की जानकारी लगते ही विधायक गुलाब कमरो सोनहत विकासखंड में अपने 3 दिवसीय दौरा कार्यक्रम को स्थगित कर तत्काल घटना स्थल बेलगाँव पहुंचे और स्थल का मुआयना कर हाथी के हमले में सुरक्षित बची मृतक की पत्नी व ग्रामीणों से मुलाकात कर घटनाकी जानकारी ली। इस दौरान उनके साथ डीएफओ लोकनाथ पटेल, एसडीएम अरूण कुमार सोनकर, तहसीलदार अशोक सिंह, थाना प्रभारी दीपेश कुमार सैनी, जनकपुर रेंजर चंद्रमणी तिवारी, रविप्रताप सिंह, अंकुर सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

विधायक कमरो ने मृतक के घर जाकर शोक-संतप्त परिवार को सांत्वना दी और परिवार के सदस्यों को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि दु:ख की इस घड़ी में वे परिवार के साथ खड़े हैं। उन्होंने शोक-संतप्त परिवार के साथ ही ग्रामीणों को हाथियों से दूर रहने की समझाईश दी साथ ही वन अमले को हाथी दल की प्रत्येकगतिविधियों पर बारीकी से नजर रखने को कहा और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बेहद मार्मिक।इस हादसे के बाद वन विभाग ने जहां पिता और मासूम बेटी के असामयिक निधन पर परिवार को 25-25 हजार रूपए की तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की वहीं मौके पर उपस्थित विधायक गुलाब कमरो ने राज्य शासन से परिवार को 6-6 लाख रूपए का मुआवजा दिलाए जाने की घोषणा की।

Related Articles

Back to top button