एक परिवार के 3 सदस्यों पिता व दो पुत्र की रहस्यमय तरीके से हुई मौत

बीजापुर

राष्ट्रीय राजमार्ग 163 पर बसे माटवाड़ा कस्बे से करीब 14 किमी दूर ग्राम जैगुर में एक परिवार के तीन सदस्यों की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई हैं। एक ही परिवार के 3 सदस्यों में बोमड़ा माड़वी उम्र 50 वर्ष और उनके 02 बेटे मुगरु उम्र 18 वर्ष  एवं रामू उम्र 09 वर्ष के द्वारा रात को खाना खाकर सोए लेकिन सुबह नहीं उठे इस रहस्यमयी मौत से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिता और दोनों बेटे रात में खाना खाकर सो गए थे, लेकिन सुबह तीनों की आंख नहीं खुली। परिजनों ने बताया कि रात में बोमड़ा और उसके बेटों ने खाने में कोलियारी भाजी और चावल खाया था। रात में सभी का स्वास्थ्य ठीक था, लेकिन सुबह जब तीनों नहीं उठे तो घर वालों ने उन्हें जगाने की कोशिश की तब पता चला कि उनकी मौत हो गई है। पिता और पुत्रों की मौत के कारणों का अभी पता नहीं चला है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। सभी शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेजा गया है, जिसका आज पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया जायेगा।

इसकी जानकारी मिलते ही बीजापुर जिले के सीएमएचओ सुनील भारती और भैरमगढ़ बीएमओ आदित्य साहू गांव पहुंचे और मृतक के परिजनों से तीनों के मौत के संबंध में पूछताछ की। अधिकारियों ने मृतकों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल ले जाने की बात कही, लेकिन परिजन और अन्य ग्रामीण पीएम के लिए तैयार नहीं थे, बाद में अधिकारियों ने परिजनों को समझाया कि जब तक पोस्टमॉर्टम नहीं होगा, तब तक मौत के कारण का पता नहीं चल पाएगा। मौत की वजह का पता चलेगा तो मुआवजा का प्रावधान होगा तो वह भी मिलेगा। इसके बाद सभी मान गए और शव को जिला अस्पताल लाया गया।

सीएमएचओ डॉ. सुनील भारती ने बताया कि सूचना के बाद भैरमगढ़ बीएमओ के साथ मैं भी वहां गया था। एक ही परिवार के तीन सदस्यों के मौत का कारण फूड पायजनिग या विषैले जंतु के काटने जैसा कुछ भी नही लगा। शव के पोस्ट मॉर्टम के बाद ही मौत के कारण का पता लगेगा।

Related Articles

Back to top button