पुलिस ने दोनों पक्षों को झंडा लगाने के लिए मना विवाद कराया शांत

जगदलपुर
निगम क्षेत्र अंर्तगत नेताजी सुभाषचंद्र बोस वार्ड क्रमांक 09 के दामोदर पेट्रोल पम्प के सामने स्थित चौक में झंडा लगाने को लेकर शुरू हुआ। विवाद अब थमता नजर नहीं आ रहा है, श्रीरामनवमी से पहले शुरू हुआ विवाद महावीर जयंती से पहले तक पहुंच गया। सारे घटनाक्रम के दौरान पुलिस प्रशासन बेहद मुस्तैद नजर आया। सीएसपी हेमसागर सिदार, कोतवाली टीआई एमन साहू, परपा थाना प्रभारी धनंजय सिन्हा मौके पर डटे रहे और लोगों को लगातार समझाइश देते रहे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश शर्मा भी मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों से बात की और दोनों पक्षों को झंडा लगाने के लिए मनाकर मामले को शांत कराया। लेकिन मुस्लिम समाज के धार्मिक झंडे को नही हटाने से पूरे शहर में चर्चा का बाजार गर्म है कि कांग्रेस की मुस्लिम तुष्टीकरण के कारण पुलिस भी दबाव में धार्मिक झंडे को नही हटा रही है। इस विवाद को अभी तो शांत कर दिया गया लेकिन झंडा विवाद पूरी तरह से शांत नही हुआ है।  

विगत शनिवार को भाजपा पार्षद दीप्ति पांडे ने उक्त चौक पर दीप प्रज्जवलित कर मुस्लिम समाज द्वारा स्थापति झंडे को हटाने की मांग पर अड़ गई थी। पुलिस प्रशासन के द्वारा स्थिति को सम्हालते हुए चौक में मुस्लिम समाज झंडा हटाकर तिरंगा झंडा लगाने का आश्वासन दिया गया, लेकिन उक्त झंडे को हटाने के संदर्भ में कोई कार्रवाई नही किये जाने पर आज पुन: उसी झंडे को लेकर स्थिति तनावपूर्ण हो गई। महावीर जयंती के उपलक्ष्य में आज जब जैन समाज के द्वारा उक्त चौक पर साज सज्जा और जैन धर्म का झंडा लगाने की पहल की गई तो, मुस्लिम समाज ने आपत्ति जताते हुए उक्त चौक से अपना झंडा हटाने से साफ इंकार कर दिया गया, लेकिन चौक के आजू-बाजू झंडा लगाने पर सहमति प्रदान कर दिया, जैन समाज के द्वारा झंडा लगाने के लिए गड्ढा खोदने •े दौरान स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी, जिसके बाद विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता मौके पर एकत्र होने लगे।

दरअसल महावीर जयंती की तैयारी •े लिए जैन समाज सदैव से उक्त चौक पर साज सज्जा करता रहा है। परन्तु विगत दो वर्ष कोरोना की वजह से कोई धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया, इसी दौरान मुस्लिम समाज ने अपना धार्मिक झंडा उस स्थान पर स्थापित कर दिया। आज महावीर जयंती की तैयारी के उपलक्ष्य जैन समाज ने उस चौक को सजाना चाहा तो मुस्लिम समाज ने आपत्ति दर्ज की पुलिस •े बीच-बचाव के बाद आपसी बातचीत से इस बात पर सहमति हुई कि मुस्लिम समाज अपना झंडा उस स्थान से नहीं हटाएगा पर चौक के आसपास जैन समाज अपने झंडे और अन्य साज सज्जा कर सकता है।

चौक को लेकर दोनों समाज के अपने-अपने दावे हैं, जैन समाज के अनुसार उन्होंने 14 जुलाई 2021 को ही निगम कमिश्नर को पत्र लिखकर महावीर भवन के नजदीक स्थित चौक का नाम महावीर चौक करने के लिए पत्र लिखा था, जिस पर निगम कमिश्नर ने एमआईसी में प्रस्ताव पास कर इसका नाम महावीर चौक करने का आश्वासन दिया था। मुस्लिम पक्ष के अनुसार एमआईसी ने इस चौक को मुस्लिम समाज के नाम पर कर दिया है। जैन समाज ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि एक वर्ष पूर्व दिए हमारे आवेदन की अनदेखी कर यदि ये प्रस्ताव पास हुआ है, तो गलत है और हम इसका हर स्तर पर विरोध करेंगे।

जैन समाज ने महावीर भवन के ठीक सामने स्थित पार्क पर भी मुस्लिम समाज द्वारा अतिक्रमण का मुद्दा भी उठाया। निगम के पार्क की चारदिवारी को मुस्लिम समाज के द्वारा पूरी तरह से ध्वस्त कर उसमें मलबा पाटकर पार्किंग एवं लंगर के लिए उपयोग किया जा रहा है, जिस पर वार्डवासियों को घोर आपत्ती है। घटना के बाद से ही सोशल मीडिया में उक्त चौक की एक 20 वर्ष पुरानी तस्वीर वायरल हो गई जिसमें चौक पर वार्डवासी तिरंगा झंडा फहराते दिखाई दे रहे हैं।

Related Articles

Back to top button