होली पर्व के अवसर पर शरारती तत्वों पर रहेगी पुलिस की कड़ी नजर

बेमेतरा
रंगपर्व होली एवं शब-ए-बारात के मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी विलास भोसकर संदीपान की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरट सभाकक्ष में जिला स्तरीय शांति समति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी भोसकर ने कहा कि सामाजिक सद्भाव एवं आपसी भाईचारा बेमेतरा जिले की गौरवशाली परम्परा रही है, हमें इसे आगे भी कायम रखना है। कोरोना के प्रकरणों मे कमी आयी किन्तु अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है, कोरोना गाइड लाईन का पालन करते हुए त्यौहार मनाने की अपील की। 18 मार्च को होली एवं शब-ए-बारात एक ही दिन पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि होली पर्व के अवसर पर शरारती तत्वों पर पुलिस की कड़ी नजर रहेगी। बोर्ड परीक्षा को ध्यान में रखते हुए जिले में कोलाहल नियंत्रण अधिनियम प्रभावशील है। वाद्य यंत्र एवं साउण्ड सिस्टम के उपयोग के लिए सक्षम अधिकारी (संबंधित एसडीएम) से अनुमति लेनी होगी। होली पर्व के दौरान सोशल मीडिया में कोई आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट न करे, आपत्तिजनक पोस्ट करना गंभीर मामलों की श्रेणी में आता है एवं दण्डनीय अपराध भी है। उन्होंने सामाजिक सद्भाव को हर हाल में बनाए रखने का आग्रह किया। इस अवसर पर उन्होंने होली पर्व के त्यौहार को शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने हेतु जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों के संबंध में भी जानकारी दी और सामाजिक सद्भाव बिगाड?े वालों की सूचना जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को देने की अपील की है।

बैठक में पुलिस अधीक्षक धमेन्द्र सिंह ने कहा कि अमन, शांति, भाईचारा और आपसी सद्भाव जिले की परम्परा है। इसे बनाए रखना हम सबका दायित्व है। उन्होंने कहा कि जोखिम उठाने के बजाए खुद को सुरक्षित रखकर संयमित ढंग से पर्व का आनंद लें। होलिका दहन सुरक्षित एवं खुली स्थान पर हो, आसपास बिजली के तार और सकरी गलियों में न किया जाए। इसके अलावा बीच सड़क पर भी होली न जलाएं ताकि संभावित दुर्घटना से बचा जा सके।

Related Articles

Back to top button