Raipur News: गौठानों में नियमित गोबर खरीदी और वर्मी खाद का रबी में अग्रिम उठाव सुनिश्चित करने पर कलेक्टर ने दिया बल

सभी गौठानों में किसानों से पैरादान को प्रोत्साहित करने के निर्देश, धमतरी ब्लॉक के 93 गौठानों की बारी बारी से की गई समीक्षा, अब तक एक लाख 18 हजार क्विंटल से अधिक हुई गोबर खरीदी

CG Raipur News : उज्जवल प्रदेश, धमतरी. ज़िले में गोधन न्याय योजना का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से किया जाए इसके लिए कलेक्टर श्री पी एस एल्मा लगातार योजना की समीक्षा कर वस्तुस्थिति पर नजर रखे हुए हैं। इसी कड़ी में गौठानों के नोडल, क्लस्टर नोडल, सचिव, कृषि और संबंधित विभाग के अमले की ब्लॉकवार समीक्षा कलेक्टर श्री एल्मा कर रहे हैं।

इसी तारतम्य में आज धमतरी ब्लॉक के 93 गौठानों में संचालित गोधन न्याय योजना की समीक्षा की गई। तीन श्रेणी में गौठानों का विभाजन कर सबसे कम कन्वर्जेंट दर वाले गौठानों से समीक्षा शुरू की गई। ज़िला पंचायत सभाकक्ष में सुबह साढ़े नौ बजे से शुरू हुई बैठक में कलेक्टर ने हर गौठान में नियमित गोबर खरीदी करने और गोबर से वर्मी खाद बनाने के साथ ही इसका विक्रय भी सुनिश्चित करने कहा। गांवों में पराली न जलाएं किसान यह भी सुनिश्चित करने कहा। गौठानों में पशुओं के लिए पैरादान करने किसानों को प्रोत्साहित करने पर भी बल दिया।

बैठक में कलेक्टर ने एक बार फिर जोर दिया कि सभी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी किसानों के घर- घर जाएं और उनकी समस्या सुन आवश्यक सम सामायिक सलाह, खाद-बीज आदि की उपलब्धता के संबध में जानकारी दें। गोबर से खाद कन्वर्जन दर के आधार पर विभक्त गौठानों की श्रेणीवार समीक्षा में गौठान नोडल, पंचायत सचिव से जानकारी ली गई। इन 93 गौठानों में अब तक एक लाख 18 हजार 388 क्विंटल गोबर की खरीदी की जा चुकी है। इसमें से एक लाख 944 क्विंटल गोबर का उपयोग खाद बनाने के लिए किया गया। यहां 30 हजार 83 क्विंटल वर्मी खाद का उत्पादन किया गया, इसमें से 78ः वर्मी खाद का विक्रय हो चुका है।

कलेक्टर श्री एल्मा और मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत श्रीमती प्रियंका महोबिया ने संयुक्त रूप से समीक्षा की। समीक्षा के दौरान एक एक गौठान की बारी बारी से समीक्षा करते हुए साफ तौर पर निर्देश दिए गए कि वर्मी खाद की छनाई हेतु दो तीन दिन का अभियान चलाकर इसे पूरा किया जाए जिससे रबी सीजन में किसानों को अग्रिम खाद उठाव के समय वर्मी खाद भी दिया जा सके। बैठक में कलेक्टर ने पंचायतों में निर्माण कार्यों की समीक्षा भी की और उनमें गति लाने के निर्देश पंचायत सचिवों को दिए। इस अवसर पर क्लस्टर नोडल, गौठान नोडल, पंचायत सचिव, कृषि और संबंधित विभाग के अधिकारी बैठक में मौजूद रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group