सत्यमेव जयते फाउंडेशन चलायेगा नशे और सट्टा के खिलाफ अभियान

रायपुर
रायपुर शहर में तेजी से फैल रहे नशे के साम्राज्य के चलते शहर का युवा वर्ग नशे का शिकार हो रहा है तो दूसरी तरफ हजारों नवयुवकों को नशे के कारोबार में धकेल दिये जाने से अपराधिक घटनाएं लगातार बढ़ रही है। रायपुर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र का बड़ा हिस्सा नशे के सौदागरों की चपेट में है।

सत्यमेव जयते फाउंडेशन के प्रदेश संयोजक कन्हैया अग्रवाल, सुरेश बाफना, महेश शर्मा एवं आशा जोसेफ ने उक्ताशय का बयान जारी करते हुुए कहा, कि मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि प्रदेश में गांजे की एक पत्ती भी आयेगी तो पुलिस विभाग के अधिकारी जिम्मेदार होंगे पर नशे के सौदागरों में इसका कोई खौफ नहीं है। गांजे की पुडि?ा गली-गली, घर-घर बिक रही है। शासन-प्रशासन आंख मूंदकर छोटी-छोटी कार्रवाई कर अपनी औपचारिकताएं पूरी कर रहे हैं।

उन्होने कहा, कि नशे और सट्टा का अवैध कारोबार करने वालों के हौसले इस कदर बुलंद है, कि शहर के मुख्य मार्गों और चौक-चौहारों पर खुले आम सट्टा खिलाया जा रहा है, शराब, गांजा और अफीम, चरस तक उपलब्ध कराई जा रही है। नाईट पार्टियों के नाम से वी.आई.पी. रोड की बड़ी-बड़ी होटलों और कैफे में नशे का विक्रय हो रहा है इन सबको रोकने में प्रशासन असफल रहा है।

सत्यमेव जयते फाउंडेशन नशे के करोबार और सट्टा के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन और जन-जागरण अभियान चलायेगा। नशे के कारण शहर का युवा वर्ग बर्बाद हो रहा है दूसरी तरफ अवैध करोबारी नशे के कारोबार में नाबालिग बच्चों तक को धकेल रहे है। मोहल्लों में नशे के कारेबारियों के गिरोह बन गये हैं जिनके बीच अवैध व्यापार पर कब्जे के लिए आये दिन मारपीट-झगड़े-चाकूबाजी होती रहती है। इन सब पर तत्काल अंकुश लगाये जाने की जरूरत है।

Related Articles

Back to top button