औचक निरीक्षण में स्कूल पहुंचे डीईओ, कहीं स्कूल बंद तो कहीं शिक्षक अनुपस्थित रहे

नारायणपुर
स्कूलों में छात्र-छात्राओं की शिक्षा गुणवत्ता एवं वर्तमान समय मे होने वाले त्रैमासिक आकलन को ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी नारायणपुर जीआर मण्डावी द्वारा  शनिवार को जिले के शालाओं का औचक निरीक्षण किया गया। जिसमें संकुल केंद्र रेमावण्ड अंतर्गत प्राथमिक शाला गोहड़ा का शाला बंद पाया गया, इस शाला में तीन शिक्षक पदस्थ है, जिसमें श्रीमती ज्योति ठाकुर एवं श्रीमती ममता अनुपस्थित मिले वहीं अन्य शिक्षक सोमदेर पोटाई आश्रम अधिक्षक आश्रम मे उपस्थित मिले शाला निर्धारित समय के पूर्व बंद होने पर जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा नाराजगी जाहिर की है।

वहीं प्राथमिक शाला मालिंगनार मे बालवाडी संचालन कि वास्तविक स्थिति जानने निरीक्षण किया गया। इस संस्था मे भी तीन शिक्षक श्रीमती ममता मेडीया, फिलमन टोप्पो एवं नारायण पोटाई पदस्थ होना पाया गया, लेकिन निरीक्षण के दौरान सिर्फ एक शिक्षक फिलमन टोप्पो शाला मे उपस्थित मिले वहीं अन्य दोनो शिक्षक बिना किसी सूचना के अनुपस्थित पाये गयें उपस्थित शिक्षक ने बताया एक शिक्षक संकुल समन्वयक का कार्य कर रहें हैं। इस पर जिला शिक्षा अधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुये कहा कि शनिवार का दिन शालाओं मे उपचारात्मक गतिविधियों का दिन रहता है, इस दौरान संकुल समन्वयक को अपने संकुल अंतर्गत शालाओं मे होना चाहिए।

प्राथमिक शाला पटेलपारा का भी औचक निरीक्षण किया गया जहां दो शिक्षक पदस्थ हैं यहा भी एक शिक्षक बधुराम शोरी बिना किसी सूचना के  अनुपस्थित पाये गयें। जिला शिक्षा अधिकारी मण्डावी द्वारा बच्चों का आकलन किया गया बच्चों का स्तर कक्षा अनुरूप नहीं पाया गया जिसमे जिला शिक्षा अधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुये बच्चों के स्तर सुधार पर विशेष कार्ययोजना बनाते हुये अध्यापन कार्य कराने के निर्देश दिये। जिला शिक्षा अधिकारी ने शिक्षकों को अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरतने के लिए विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी नारायणपुर को समस्त अनुपस्थित शिक्षकों पर कार्यवाही करते हुये स्पष्टीकरण जारी करने का निर्देश दिया गया है।

Related Articles

Back to top button