इस वर्ष का प्रथम नेशनल लोक अदालत संपन्न

रायपुर
छत्तीसगढ उच्च न्यायालय, बिलासपुर के न्यायमूर्ति तथा छत्तीसगढ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के कार्यपालक अध्यक्ष गौतम भादुडी सर के सतत् मार्गदर्शन तथा पर्यवेक्षण के परिणामत: नेशनल लोक अदालत में प्राप्त हो रही है अपार सफलता। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के द्वारा नेशनल लोक अदालत हेतु घोषित वार्षिक कैलेण्डर के अनुसार वर्ष की प्रथम नेशनल लोक अदालत का संपादन शनिवार को सफलतापूर्वक पूरे देश में हुआ। नेशनल लोक अदालत का सम्पूर्ण देश में सफलतापूर्वक संपादन हो सके इस पर लगातार सर्वाेच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति तथा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के कार्यपालक अध्यक्ष यू.यू. ललित सर द्वारा पर्यवेक्षण किया जा रहा था।

वर्ष 2022 की प्रथम नेशनल लोक अदालत का आयोजन मुख्य संरक्षक छत्तीसगढ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण तथा मुख्य न्यायमूर्ति छत्तीसगढ उच्च न्यायालय, बिलासपुर अरुप कुमार गोस्वामी सर तथा छत्तीसगढ उच्च न्यायालय, बिलासपुर के न्यायमूर्ति तथा छत्तीसगढ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, बिलासपुर के कार्यपालक अध्यक्ष गौतम भादुडी सर के सतत् मार्गदर्शन में उच्च न्यायालय, जिला स्तर तथा तालुका स्तर पर संपादित हुआ है।

विदित है कि छत्तीसगढ उच्च न्यायालय, बिलासपुर के न्यायमूर्ति तथा छत्तीसगढ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, बिलासपुर के कार्यपालक अध्यक्ष महोदय माननीय गौतम भादुडी सर नेशनल लोक अदालत की तैयारी तथा सुखद परिणाम हेतु बडी सूक्ष्मता के साथ पूरे राज्य का पर्यवेक्षण कर रहे थे। उनके द्वारा नेशनल लोक अदालत की तिथि घोषित होने के दिन से ही सम्पूर्ण राज्य के सिविल तथा राजस्व न्यायालयों को लोक अदालत के माध्यम से जन-जन तक सस्ता, सरल तथा सुलभ न्याय प्रदान करने की दिशा में निर्देश प्रदान किया गया। माननीय महोदय द्वारा पूरे राज्य के जिला न्यायाधीशो तथा अन्य संबधित अधिकारीयों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेन्सिगं के माध्यम से लगातार बैठक की गई।। अन्तिम तिथि तक भी उनके द्वारा लोक अदालत की सफलता हेतु बैठक लेकर आवश्यक दिशानिर्देश प्रदान किये गये।

इस लोक अदालत में जिला राजनांदगांव तथा जिला बालौद का भ्रमण किया गया।। माननीय न्यायमूर्ति महोदय के कुशल नेतृत्व, सतत् मार्गदर्शन तथा दिशानिदेर्शों का ही परिणाम रहा है कि दिसंबर 2021 को आयोजित नेशनल लोक अदालत मे सभी प्रकार के प्रकरण जहॉं 57,000 के लगभग जिला रायपुर में निराकृत हुये थें वहीं इस बार 12 मार्च 2022 को आयोजित लोक अदालत में जिला रायपुर में सभी प्रकार के लगभग 1,25,000 से ज्यादा प्रकरण निराकृत हुये है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायपुर द्वारा इस बार की आयोजित नेशनल लोक अदालत में नालसा की योजना बच्चों के साथ मैत्रीपूर्ण व्यवहार एवं विधिक अधिकार योजना 2015 के महिला एवं बाल विकास के साथ विधि से संधर्षरत किशोरो द्वारा निर्मित कलाकृतियों की प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। प्रदर्शनी में कलाकृतियों को न्यायाधीशगण, अधिवक्तागण तथा पक्षकारगण द्वारा क्रय किया गया। प्रदर्शनी का आयोजन का मुख्य उदद्ेश्य विधि से संधर्षरत किशोरों को मूलधारा में लाने का था। आये हुई आगाम राशि का किशोरों की शिक्षा दिक्षा तथा विकास में प्रयोग की जावेगी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायपुर के इस कदम का स्वागत नेशनल लोक अदालत में उपस्थित प्रत्येक पक्षकार द्वारा किया गया।। न्याय सबके लिए।

Related Articles

Back to top button