संयंत्र का संचालन कोई भी करे, लेकिन मजदूरों को एनएमडीसी के अधीन रखा जाए

जगदलपुर
नगरनार इस्पात संयंत्र में संयुक्त इस्पात मजदूर संगठन और स्टील श्रमिक यूनियन ने डीमर्जर के विरोध में आंदोलन की शुरूआत कर दी है, जिसमें उन्होंने एनएमडीसी के सामने एक ही मांग रखी है। मजदूर संगठनों का कहना है कि चाहे नगरनार इस्पात संयंत्र का संचालन कोई भी करे, लेकिन यहां काम कर रहे मजदूरों को एनएमडीसी के अधीन ही रखा जाए।

संयुक्त इस्पात मजदूर संगठन और स्टील श्रमिक यूनियन द्वारा संयुक्त रूप से सुबह गेट मीटिंग कर प्रोजेक्ट मुख्यालय के सामने पहुंचकर रोजाना आधे घंटे नारेबाजी करते हुए अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं। इसके साथ ही अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी कर रहे हैं। मजदूर संगठनों के पदाधिकारियों ने बताया कि भू-प्रभावित कर्मचारियों को एनएमडीसी के अधीन रखकर ही उनसे काम लिया जाए। किसानों और लोगों ने अपनी जमीनें प्लांट निर्माण के लिए एनएमडीसी को दी है, ऐसे में अब उनकी नौकरी को बरकरार रखने की जिम्मेदारी भी एनएमडीसी की है। मजदूर संगठनों के पदाधिकारी संतराम सेठिया, महेंद्र जॉन, प्रभुलाल बघेल व जितेंद्र नाथ ने बताया कि आने वाले दिनों में प्रबंधन के मामले को लेकर चर्चा की जाएगी, जिसके बाद भी अगर प्रबंधन ने मांग नहीं मानी तो आगे चलकर काम बंद हड़ताल भी किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button