पूजा का प्रसाद खाने से बिगड़ी बच्चों की तबियत, आनन-फ़ानन में कराया गया अस्पताल में भर्ती

नालंदा
महंगाई के इस दौर में बिना मिलावट के कोई भी सामान मिलना बहुत ही मुश्किल हो गया है। चायपत्ति से लेकर दूध और भोजन सामाग्री से लेकर तेल तक में मिलावट पाई जा रही है। हाल ही में एक मामला मिलावटी दूध का सामने आया था। इसके बाद सरसों के दाने में भी मिलावट की खबर सामने आई थी। मिलावटी खाने का नतीजा यह हो रहा है कि लोग फूड प्वॉज़निंग का शिकार हो रहे हैं। अभी एक ऐसा हैरतअंगेज मामला सामने आया है जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे। पूजा का प्रसाद खाने से क़रीब 1 दर्जन बच्चे फ़ूड प्वॉज़निंग का शिकार हो गए। नालंदा ज़िले के नूरसराय थाना क्षेत्र धरमपुर गांव में पूजा का प्रसाद खाने से एक दर्जन बच्चे बीमार हो गए। आनन-फानन में बीमार बच्चों इलाज के लिए बिहार शरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहा बच्चो का इलाज जारी है।

घटना के बाबत ग्रामीणों का कहना है कि गांव के ही एक व्यक्ति बिरेंद्र राम ने नव निर्मित मकान में पूजा आयोजन किया था। उसी पूजा का प्रसाद खाने से करीब एक दर्जन से ज़्यादा बच्चो को उल्टी होने लगी। बच्चों की बिगड़ती तबियत को देखते हुए कुछ को स्थानीय क्लिनिक में भर्ती कराया गया। वहीं कुछ बच्चों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल सभी इलाजरत बच्चो की हालात सामान्य बताई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button