सीएम योगी बोले – 30 सालों से बंद पड़े यूपी सरकार के ट्रेनिंग सेंटर को कराएं शुरू

लखनऊ
यूपी के मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ इन दिनों सख्त दिखाई दे रहे हैं। बुंदेलखंड के बाद सीएम दो दिन के मेरठ के दौरे पर पहुंचे थे। इसके बाद वह लखनऊ पहुंचे और अफसरों को सख्त निर्देश दिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एएनएम और जीएनएम के पिछले तीन दशकों से बंद पड़े राज्य सरकार के ट्रेनिंग सेंटर्स को फिर से शुरू किया जाए। शुरुआत में नौ जीएनएम व 34 एएनएम सेंटर्स को शुरू किया जाय। साथ ही मेडिकल कॉलेज/जिला अस्पतालों में भी ट्रेनिंग करवाई जाय।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामुदायिक शौचालयों में स्वच्छता हो, अनावश्यक तालाबंदी न रहे। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि यातायात सड़क सुरक्षा जागरूकता के लिए सड़क सुरक्षा अभियान शुरू किया जाए। इसमें अंतर्विभागीय समन्वय हो। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि मंडलीय भ्रमण से लौटे मंत्री समूहों की रिपोर्ट सभी विभागों को दी जाये और इस पर यथोचित कार्यवाही की जाय, यह भ्रमण जारी रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपातकालीन सेवा 108/102 के बेहतर संचालन व्यवस्था के लिए मंडलों का क्लस्टर तैयार किया जाए। इसका प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया जाए।

अनावश्यक माइक भी हटा सकती है योगी सरकार, सीएम ने दिए संकेत
मेरठ से निकलने से पहले क्रांति दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि क्रांतिकारियों के सपने को यूपी साकार कर रहा है। यूपी ने दिखा दिया कि अनावश्यक माइक भी हट सकते हैं, लाउडस्पीकर हट सकते हैं और सड़कों पर नमाज नहीं हो सकती। मुख्यमंत्री ने कहाकि आयोजन कोई भी हो आम लोगों का आवागमन बाधित नहीं होने देंगे। करीब 67 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार सारी सुविधाएं देगी लेकिन लोक व्यवस्था बाधित नहीं होने देगी। 10 मई 1857 की 167वीं जयंती पर मेरठ आए योगी आदित्यनाथ ने शहीद स्मारक पर अमर जवान ज्योति पर माल्यार्पण किया। उन्होंने प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के अमर सेनानी धन सिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री बाबा औघड़नाथ मंदिर भी गए जहां से प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का शुभारंभ हुआ था। इस अवसर पर उन्होंने क्रांतिकारियों के परिजनों और सेनानियों को सम्मानित भी किया।

 

Related Articles

Back to top button