DDMA ने बताया कौन सी लैब कोरोना की जांच के लिए एकत्र कर सकती है सैंपल

नई दिल्ली
दिल्ली में केवल आइसीएमआर से मान्यता प्राप्त लैब ही कोरोना की जांच के लिए सैंपल एकत्र कर सकती हैं। इस संबंध में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने स्पष्ट निर्देश जारी किए हैं। आदेश में यह कहा गया है कि सभी लैब को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके स्वयं के सैंपल कलेक्टर या उनकी ओर से सैंपल एकत्र करने वाली संस्था को बायो सिक्योरिटी प्रोटोकाल का पालन करना होगा। इस काम के लिए नियुक्त किए जा रहे कर्मी को आइसीएमआर या भारत सरकार की किसी अधिकृत एजेंसी द्वारा निर्धारित मापदंड के तहत योग्य होना चाहिए।

आदेश में जिलाधिकारियों को भी औचक निरीक्षण और दौरा करने का निर्देश दिया गया। इसके अनुसार संबंधित जिला के अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में स्थित कोरोना जांच लैब और अस्पतालों को उपरोक्त निर्देशों का पर्यवेक्षण और अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। यह भी सुनिश्चित करेंगे कि उपरोक्त निर्देशों के किसी भी उल्लंघन के लिए आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के उचित प्रविधान के तहत दंडित किया जाएगा।

विश्व पर्यावरण दिवस पर चिड़ियाघर में स्कूली छात्रों को पर्यावरण को लेकर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसकी थीम आनली वन अर्थ थी। जिसमें प्रकृति के साथ सामंजस्य और अच्छी जीवन शैली को लेकर जागरूक किया गया। वहीं, जलवायु परिवर्तन व बिगड़ते पारिस्थितिक तंत्र के बारे में छात्रों को जानकारी दी गई। कार्यक्रम में छात्रों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस दौरान छात्रों को नेचर वाक व जिसमें वेस्ट को किस तरह उपयोग में तरह लाया जाए, इस बारे में कार्यशाला का आयोजन किया गया।जिसमें पेड़-पौधे व जानवरों के महत्व के बारे में बताया गया।

चिड़ियाघर के निदेशक धर्मदेव राय ने कहा कि पर्यावरण को होते लगातार नुकसान को कम करने की जिम्मदारी सभी लोगों की है। पर्यावरण दिवस के अवसर पर छात्रों को प्रदूषण किस तरह से कम किया जा सकता है, इसके बारे में जागरूक किया गया। इस दौरान चिड़ियाघर के रेंज अधिकारी सौरभ विशिष्ठ व ग्रीन स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम (जीएसडीपी) के छात्र भी शामिल हुए।

Related Articles

Back to top button