डॉक्टर बनी भगवान, नवजात को अपने मुंह से सांस देकर बचाई जान

आगरा

 डॉक्टरों को धरती का भगवान ऐसे ही नहीं कहा जाता है. आगरा (Agra) के एत्मादपुर (Etmadpur) में एक नवजात बच्चे और उसकी मां के लिए एक महिला डॉक्टर उस वक्त भगवान बन गई, जब उसने नवजात शिशु को अपने मुंह से सांस देकर उसकी जान बचा ली. ये बच्ची जन्म के बाद सांस नहीं ले पा रही थी, जिसके बाद डॉक्टर सुरेखा अपने मुंह से नवजात को तब-तक सांस देती रही जब तक वो उसे जीवन देने में कामयाब नहीं हो गई. डॉ सुरेखा का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और अब हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है.

बेजान बच्चे में डाली जान

दरअसल, एत्मादपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में खुशबू नाम की महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन जन्म के साथ ही नवजात सांस नहीं ले पा रही थी जिसके बाद डॉ सुरेखा ने बिना कोई देर किए फौरन बच्चे को मशीन से ऑक्सीजन देने की कोशिश की लेकिन उनकी ये कोशिश भी बेकार हो गई. वहीं दूसरी तरफ बेसुध मां अपने बच्चे की किलकारी सुनने के लिए बैचेन थी. वो एकटक डॉक्टर की ओर उम्मीद भरी निगाहों से देख रही थी. नवजात जब मशीन के जरिए भी सांस नहीं ले पाया तो डॉ सुरेखा ने बिना कोई देरी किए उसे अपने मुंह से सांस देना शुरू कर दिया. उन्हें ऐसे देखकर उनका स्टाफ भी हैरान रह गया और उनमें से किसी एक उनका वीडियो बना लिया.

सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ

डॉ. सुरेखा खून से लथपथ नवजात को मुंह से सांस देने के साथ साथ सीने पर पम्प भी कर रही थीं. उनकी कोशिशें बेकार नहीं गई और वो बेजान बच्चे में जान डालने में सफल रहीं. उनकी इतनी कोशिशों के बाद जब नवजात की सांस लौटी तो डॉ सुरेखा के चेहरे पर एक अलग खुशी और चमक थी. उनका ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. लोग उनकी तारीफें करते नहीं थक रहे हैं. इसके साथ ही दूसरों को भी उनसे सीख लेने की सलाह दे रहे हैं.

Related Articles

Back to top button