दिल्ली में फ्री बिजली सब्सिडी होगी वैकल्पिक,दो साल तक की छुट्टी ले सकेंगे स्टूडेंट्स

नई दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार (5 मई, 2022) को एक प्रेस कांफ्रेंस कर बड़े एलान किए हैं। उन्होंने राजधानी में दी जा रही फ्री बिजली को अब वैकल्पिक कर दिया है। इसका मतलब जो चाहेगा सिर्फ उसको ही मुफ्त बिजली की सब्सिडी (Free Electricity Subsidy) दी जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने बेरोजगारी के मुद्दे पर भी बात की और “दिल्ली स्टार्टअप पॉलिसी” का ऐलान किया। इसके जरिए, अपना स्टार्टअप शुरू करने की सोच रहे युवाओं को फाइनेंशियल, लीगल और प्रोफेशनल हर तरह की मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कॉलेज में पढ़ते हुए भी अगर कोई छात्र अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहता है तो उसको दो साल तक की छुट्टी दी जाएगी।

दिल्ली सीएम ने बताया कि आप सरकार दिल्ली में स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए स्टार्टअप पॉलिसी ला रही है। इसके लिए एक टास्क फोर्स तैयार की जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि हमारे देश के युवा इतने मेहनती और होशियार हैं लेकिन इसके बाद भी वे बेरोजगार हैं। अब युवाओं को कॉलेज के बाद नौकरी ढूंढने के बजाय अपना बिजनेस करने के लिए तैयार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि कॉलेज में पढ़ते हुए भी स्टूडेंट्स अपना बिजनेस आइडिया डेवलप करेंगे और उसके लिए सरकार उन्हें फाइंनेंशियल, लीगल हर स्तर पर मदद करेगी, जिसके लिए आप सरकार दिल्ली स्टार्टअप पॉलिसी लेकर आई है। दुनियाभर की स्टार्टअप पॉलिसी के अच्छे प्वाइंट्स को इकट्ठा करके यह पॉलिसी तैयार की गई है।

दिल्ली सीएम ने बताया कि स्टार्टअप के लिए वित्तीय सहायता के साथ अन्य मदद भी की जाएंगी। उन्होंने बताया कि कुछ एजेंसियों को हायर कर युवाओं को मदद मुहैया कराई जाएगी।

दो साल तक की छुट्टी ले सकेंगे स्टूडेंट्स
मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर कोई छात्र कॉलेज में पढ़ाई के दौरान स्टार्टअप शुरू करना चाहता है और उसने कोई प्रोडक्ट तैयार किया तो उसे दो साल तक की छुट्टी भी दी जाएगी। इससे वह छात्र अपना पूरा समय अपने प्रोडक्ट पर लगा सकेगा।

एक साल तक के लिए इंटरेस्ट फ्री लोन दिया जाएगा
केजरीवाल ने बताया कि स्टार्टअप के लिए किराए पर ली गई जमीन का आधा किराया सराकर देगी। इसके अलावा, अगर पेटेंट, ट्रेडमार्क या कॉपीराइट की फीस जमा की जाएगी वो वापस मिल सकती है। इंटरनेट चार्ज पे करने में भी सरकार मदद कर सकती है। उन्होंने बताया कि इनकुबेशन सेंटर (जहां जाकर स्टूडेंट्स अपना स्टार्टअप्स शुरू कर सकते हैं) स्थापित करने वालों को भी सहायता दी जाएगी। बिना गारंटी के कोलेट्रल लोन दिलाने में दिल्ली सरकार मदद करेगी और एक साल तक के लिए इंटरेस्ट फ्री लोन की सुविधा भी स्टार्टअप शुरू करने वालों छात्रों को दी जाएगी।

हायर की जाएंगी एजेंसियां
दिल्ली सीएम ने कहा कि जब कोई नौजवान युवक अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहता है तो वो 90 प्रतिशत समय तो जीएसटी और लीगल कामों में लगाता है जबकि सिर्फ 10 पर्सेंट टाइम ही वो अपने बिजनेस को दे पाता है। इसके लिए सरकार ढेर सारी एजेंसी और प्रोफेशनल्स को हायर करेगी, जो स्टार्टअप शुरू करने में आने वाली सभी परेशानियों को दूर करने में मदद करेंगी। इसमें चार्टेड अकाउंटेंट्स, एक्स्पर्ट्स के पैनल बनाए जाएंगे, जहां उन्हें बिल्कुल मुफ्त मदद दी जाएगी।

Related Articles

Back to top button