मेरे पास मां है, इस्तीफे के ऐलान के बाद तेज प्रताप का संकेत, त्याग गिना बताई झगड़े की वजह

पटना

बिहार के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार में घमासान हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने सोमवार रात अचानक आरजेडी से इस्तीफे का ऐलान करके चौंका दिया। अब तक खुद को छोटे भाई तेजस्वी यादव को अर्जुन बताकर खुद को सारथी कृष्ण के रूप में पेश करते आ रहे तेज प्रताप के ट्वीट को लालू परिवार में संभावित महाभारत के रूप में देखा जा रहा है।

तेज प्रताप यादव ने लालू से मुलाकात करके इस्तीफा सौंपने की बात कही है। आरजेडी के यूथ विंग के नेता रामराज की ओर से मारपीट और लालू-तेजस्वी को गाली दिए जाने का आरोप लगाए जाने के कुछ घंटों बाद तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर लिखा, ''मैं अपने पिता के नक्शे कदम पर चलने का काम किया। सभी कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया जल्द अपने पिता से मिलकर अपना इस्तीफा दूंगा।'' ट्वीट में उन्होंने पिता लालू यादव, मां राबड़ी देवी, भाई तेजस्वी यादव और बहन मीसा भारती को भी टैग किया है।
 
कुछ देर बाद उन्होंने फेसबुक पर मां राबड़ी देवी के साथ एक तस्वीर भी साझा की, जिसमें मां प्यार से उनके सिर को सहलाती दिख रही हैं। माना जा रहा है कि तेज प्रताप ने इस तस्वीर से यह संकेत देने की कोशिश की है कि इस पारिवारिक झगड़े में मां उनके साथ है। हालांकि, अभी तक राबड़ी, लालू या तेजस्वी का रुख सामने नहीं आया है।
 

तेज प्रताप यादव ने आधी रात के बाद अपने फेसबुक पेज पर अपने छात्र संगठन जनशक्ति परिषद के एक नेता का वीडियो शेयर करके कहा है कि जो लोग परिवार में फूट डालना चाहते हैं, उन्होंने रामराज को स्क्रिप्ट लिखकर दी है और उन्हीं के इशारे पर सबकुछ हो रहा है। आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह का नाम लेते हुए एक बार फिर उन पर ठीकड़ा फोड़ा गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि लालू और तेजस्वी यादव को गाली देने का आरोप गलत है। तेज प्रताप ने लालू यादव का पैर धोकर पिया था तो बड़े भाई होने की वजह से विरासत के पहले हकदार होते हुए भी उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया।

 

Related Articles

Back to top button