संवैधानिक मूल्यों को बचाने में अभिभाषक परिषदों का महत्वपूर्ण योगदान: स्वायत्त शासन मंत्री

जयपुर। अभिभाषक परिषद की नव कार्यकारिणी का पदभार ग्रहण कार्यक्रम शुकवार कोटा जिले की कोर्ट परिसर में आयोजित किया गया।

कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए स्वायत्त शासन एवं नगरीय विकास मंत्री श्री शांती धारीवाल ने नव कार्यकारिणी को बधाई और शुभकामनाऐं दीं। स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि प्रदेश की सभी अभिभाषक परिषदों द्वारा देश के संवैधानिक मूल्यों के साथ- साथ राष्ट्र के निर्माण में अपना अभिनव योगदान दिया हैं।

उन्होंने कहा कि कोर्ट परिसर में कार्यरत हर अधिवक्ता की नैतिक जिम्मेदारी है कि वे हर परिवादी की समस्या को संवेदनशीलता से उचित न्याय दिलाये। स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि रानपुर में अधिवक्ताओं के लिए आवासीय योजना लाकर पानी, बिजली सहित आधारभूत सुविधाओं का विकास किया गया। कार्यक्रम में नव कार्यकारिणी अध्यक्ष श्री प्रमोद शर्मा ने अधिवक्ताओं की कॉलोनी के साथ साथ कोर्ट परिसर में आने वाली विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया

समस्याओं का होगा समाधान-

कार्यक्रम में श्री धारीवाल ने कहा कि कोर्ट के तीन गेटो पर उच्च गुणवत्ता के सीसीटीवी कैमरे लगाये जाकर उन्हें अभय कमांड सेंटर से जोडने, कोर्ट परिसर में स्थापित पुलिस चौकी मे स्टॉफ सदस्यों की संख्या बढाने, कोर्ट परिसर के जीर्ण-क्षीर्ण सभागार का नगर विकास न्यास के माध्यम से जीर्णोद्धार कराने एवं वर्षा के समय कोर्ट परिसर में पानी की निकासी नहीं होने से भरने वाले पानी की समस्या से भी स्थाई निजात दिलाने का भरोसा दिलाया।

कार्यक्रम को विशिष्ठ अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए कोटा दक्षिण विधायक श्री संदीप शर्मा ने कहा कि अभिभाषक परिषद में कार्य करने वाले अधिवक्ताओं का प्रयास रहता हैं कि वे परिवादियों को समय पर उचित न्याय दिलाना है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला सत्र एवं न्यायाधीश श्री आर पी सोनी ने कहा कि बार और बैंच एक दूसरे के पहलू है। उन्होंने कहा कि आपसी सौहार्द ही मधुर संबंधों की असली पहचान है।

इस अवसर पर अभिभाषक परिसर की नव कार्यकारिणी के महासचिव श्री गोपाल चौबे, उपाध्यक्ष श्री कन्हैयालाल शाक्यवाल सहित कार्यकारिणी सदस्य, बारां एवं झालावाड अभिभाषक परिषदों के अध्यक्ष एवं पदाधिकारी सहित कोर्ट परिसर के न्यायिक अधिकारी सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button